युआन के पतन से चीन बेचैन; विदेशों में किये जानेवाले निवेश पर निर्बंध लगाने के चीन द्वारा संकेत

युआन के पतन से चीन बेचैन; विदेशों में किये जानेवाले निवेश पर निर्बंध लगाने के चीन द्वारा संकेत

बीजिंग: अमरीका में हुए तख्तापलट की गूँज चीन की अर्थव्यवस्था में दिखने लगी है| चिनी मुद्रा युआन का पतन शुरू हो चुका है| अमरीका में डोनाल्ड ट्रम्प की जीत के बाद दो हफ्तों के अंदर ही युआन में ज़बरदस्त गिरावट देखने को मिल रही है| फिलहाल युआन अमरिकी डॉलर की तुलना में साड़ेआठ साल के […]

Read More »

रशियन अर्थव्यवस्था फिर से विकास की ओर

रशियन अर्थव्यवस्था फिर से विकास की ओर

मॉस्को, दि. २४ (वृत्तसंस्था)- युक्रेन का संघर्ष, पश्चिमी देशों ने जारी किये प्रतिबंध और तेल की क़ीमतों में हुई भारी गिरावट के आघातों के बाद रशियन अर्थव्यवस्था फिर से विकास की ओर मुड़ने के संकेत मिल रहे हैं | युरोप और अमरीका की बड़ी कंपनियों ने, रशिया में बड़ा निवेश करने तथा मार्केट का विस्तार […]

Read More »

‘डिमॉनेटायझेशन’ की ज़िम्मेदारी में नाकाम हुए रिजर्व बैंक के गवर्नर से बैंक कर्मचारियों तथा अधिकारियों द्वारा इस्तीफ़े की माँग

‘डिमॉनेटायझेशन’ की ज़िम्मेदारी में नाकाम हुए रिजर्व बैंक के गवर्नर से बैंक कर्मचारियों तथा अधिकारियों द्वारा इस्तीफ़े की माँग

नवी दिल्ली: ‘डिमॉनेटायझेशन’ के फैसले के बाद देश में पैदा हुए भयंकर हालात के लिए रिजर्व बैंक ऑफ़ इंडिया के गवर्नर उर्जित पटेल जिम्मेदार हैं, ऐसा इल्ज़ाम बैंक कर्मचारियों एवं अधिकारियों के संगठन ने लगाया है| इन हालात की ज़िम्मेदारी का स्वीकार करते हुए पटेल ने इस्तीफ़ा देना चाहिए, ऐसी माँग यह संगठन कर रहा […]

Read More »

‘डिमॉनेटायझेशन’ की वजह से आम जनता परेशान

‘डिमॉनेटायझेशन’ की वजह से आम जनता परेशान

नई दिल्ली: आठ नवंबर की मध्यरात्रि से ५०० और १००० रुपये के नोट खारिज़ करने की घोषणा की जाने के बाद देशभर के बैंकों एवं एटीएम के बाहर लगीं कतारें बढ़ती ही चली जा रही हैं| इस घोषणा के बाद देशभर में जान गँवानेवालों की संख्या २५ पर गई हुई ऐसा सामने आ रहा है| […]

Read More »

आयकर विभाग द्वारा देशभर में छापें

आयकर विभाग द्वारा देशभर में छापें

नई दिल्ली: ५०० और १००० रुपये के नोट रद करने का फैसला होने के बाद, पूरे देश के लोगों ने ये नोट बदलने के लिए बैंक में जमा करने की शुरुआत की है| साथ ही, इन नोटों के रूप में होनेवाला अपना अघोषित पैसा बचाने के लिए कालाबाज़ार में शामिल लोगों ने भी अलग अलग […]

Read More »
1 20 21 22