६९. १९३९ की ज्यू-अरब लंडन परिषद ब्रिटीश सरकार की श्‍वेतपत्रिका

६९. १९३९ की ज्यू-अरब लंडन परिषद ब्रिटीश सरकार की श्‍वेतपत्रिका

ब्रिटीश सरकार द्वारा गठन की गयीं ‘पील कमिशन’ एवं ‘वुडहेड कमिशन’ इन दोनों शाही खोजसमितियों ने प्रयास करने के बावजूद भी, अरब और ज्यूधर्मीय इनके बीच पॅलेस्टाईन में शुरू हुआ प्रतिरोध मिटने का नाम ही नहीं ले रहा था। दोनो समितियों के अहवाल अरबों ने और ज्यूधर्मियों ने अलग अलग कारणों के लिए ठुकरा दिये […]

Read More »

६८. वुडहेड कमिशन चर्चापरिषद का निमंत्रण

६८. वुडहेड कमिशन चर्चापरिषद का निमंत्रण

‘पील कमिशन’ का अहवाल हालाँकि अरब और ज्यूधर्मीय दोनों ने भी ठुकरा दिया था, मग़र ब्रिटीश सरकार ने इस अहवाल का स्वागत किया। साथ ही, उसमें की गयी पॅलेस्टाईन के विभाजन की सूचना तत्त्वतः मान्य की और उसमें सिफ़ारिश की गयी सूचनाओं का सविस्तार अध्ययन कर, उनमें से पॅलेस्टाईन का विभाजन करने की मुख्य सूचना […]

Read More »

६७. ‘पील कमिशन’ के सुझाव

६७. ‘पील कमिशन’ के सुझाव

सन १९३६ में अरब-ज्यू दंगों की तहकिक़ात करने पॅलेस्टाईन के दौरे पर आये ‘पील कमिशन’ इस ब्रिटीश शाही खोजसमिति ने अपने अहवाल में पॅलेस्टाईन के संदर्भ में कई सुझाव दिये थे। लेकिन उनमें से मुख्य सुझाव – ‘परस्परविरोधी माँगें होनेवाले दोनो पक्षों को इन्साफ़ देने के ब्रिटीश सरकार ने पूरे प्रयास किये। लेकिन वे असफल […]

Read More »

६६. ‘पील कमिशन’

६६. ‘पील कमिशन’

इसवीसन १९३० के दशक में घटित हो रहे इस सारे घटनाक्रम के साथ ही, ज्यूधर्मियों के लिए अत्यधिक अनिष्ट ऐसा संकट खड़ा हो रहा था – सन १९३३ में जर्मनी में हिटलर के नेतृत्व में होनेवाली नाझी पार्टी ने सत्ता हस्तगत की थी! ३० जनवरी १९३३ को हिटलर सत्ता में आने के कुछ ही समय […]

Read More »

६५. ‘नाझी’ संकट

६५. ‘नाझी’ संकट

इसवीसन १९३० के दशक में घटित हो रहे इस सारे घटनाक्रम के साथ ही, ज्यूधर्मियों के लिए अत्यधिक अनिष्ट ऐसा संकट खड़ा हो रहा था – सन १९३३ में जर्मनी में हिटलर के नेतृत्व में होनेवाली नाझी पार्टी ने सत्ता हस्तगत की थी! ३० जनवरी १९३३ को हिटलर सत्ता में आने के कुछ ही समय […]

Read More »

६४. १९३० के दशक की गतिविधियाँ

६४. १९३० के दशक की गतिविधियाँ

इसवीसन १९२९ में जेरुसलेम में हुए अरब-ज्यू दंगे, ज्यूधर्मियों की जायदादों का, सिनोगॉग्ज का प्रचंड ध्वंस करने के बाद और बड़े पैमाने पर जीवितहानि होने के बाद आगे चलकर थम गये; ऊपरी तौर पर सबकुछ शान्त हुआ प्रतीत हो रहा था, लेकिन दोनों पक्षों में झुलस रही आग शान्त नहीं हुई। इन दंगों के बाद […]

Read More »

६३. १९२९ के अरब-ज्यू दंगे

६३. १९२९ के अरब-ज्यू दंगे

इसवी १९२० के दशक में पॅलेस्टाईनस्थित अरब और ज्यूधर्मीय इनके बीच की दरार बढ़ती ही चली जा रही थी। ब्रिटीश शासकों का रूझान भी ज्यूधर्मियों पर अधिक से अधिक पाबंदियाँ लगाते हुए, अरबों का अनुनय करने की ओर ही था। वैसे देखा जायें, तो इसवीसन १९२५ के दौरान पॅलेस्टाईन में ज्यूधर्मियों की संख्या लगभग १५ […]

Read More »

६२. सौद घराने का अरेबिया में राज्य स्थापित (१९२० के दशक के घटनाक्रम)

६२. सौद घराने का अरेबिया में राज्य स्थापित (१९२० के दशक के घटनाक्रम)

इसवीसन १९२० के दशक में मध्यपूर्व में घटित हुए एक और महत्त्वपूर्ण घटना यानी अरेबिया के विभिन्न प्रान्तों ने एकसाथ आकर, अखंड़ित सौदी अरेबिया का निर्माण होने की दिशा में हुई उनकी मार्गक्रमणा। इस प्रदेश की गतिविधियों के अधिकांश अभ्यासक सौदी अरेबिया का निर्माण होने की प्रक्रिया की शुरुआत इसवीसन १८वीं सदी में ही हुई […]

Read More »

६१. तुर्की संघराज्य का जन्म और ट्रान्सजॉर्डन को मान्यता (१९२० के दशक के घटनाक्रम)

६१. तुर्की संघराज्य का जन्म और ट्रान्सजॉर्डन को मान्यता  (१९२० के दशक के घटनाक्रम)

इसवीसन १९२० का दशक केवल ज्यूधर्मियों के लिए ही नहीं, बल्कि कुल मिलाकर पूरे मध्यपूर्व के इला़के के लिए ही विशेष महत्त्वपूर्ण साबित होने लगा था। ख़ासकर इस दशक में हुईं इन गतिविधियों का आगे चलकर इस्रायल की भविष्यकालीन मार्गक्रमणा पर भी बहुत गहरा असर हुआ। इस १९२० के दशक में हुई पहली महत्त्वपूर्ण गतिविधि […]

Read More »

६०. इस्रायल की भूमि में बिजलीनिर्माण की शुरुआत

६०. इस्रायल की भूमि में बिजलीनिर्माण की शुरुआत

इसवीसन १९२० के दशक के प्रारंभ में ही हालाँकि पॅलेस्टाईन में ज्यू-अरब संघर्ष भड़के थे, ज्यूधर्मियों के लिए सकारात्मक गतिविधियाँ भी घटित होने लगीं थीं। उदा. भविष्यकाल में इस्रायल के उद्योग आदि क्षेत्रों में जिन्होंने मूलभूत महत्त्व का कार्य किया, ऐसीं कई संस्थाओं का निर्माण होकर वे निश्‍चित आकार धारण करने लगीं थीं। इनमें से […]

Read More »
1 2 3 7