‘साउथ चाइना सी’ में फिलिपाईन्स की आपत्तियों पर चीन की चेतावनी

बीजिंग: साउथ चाइना सी में चीन के कृत्रिम द्वीपों के निर्माण पर आपत्ति जताते हुए चीन अपनी समुद्री आक्रामकता पर लगाम लगाए, ऐसी सलाह देने वाले फिलिपाईन्स को चीन ने चेतावनी दी है। साउथ चाइना सी में प्रवेश करने वाले विमानों और जहाजों को हटाना चीन का अधिकार है और फिलिपाईन्स इसमें दखल न दे, ऐसी चेतावनी चीन के विदेश मंत्रालय ने दी है।

दौरान, चीन ने फिलिपाईन्स को दी धमकी को कुछ घंटे भी नहीं बीते हैं, ऐसे में अमरिका ने फिलिपाईन्स की भूमिका का समर्थन किया है। साथ ही चीन ने साउथ चाइना सी में हमला किया तो अमरिका फिलिपाईन्स का भरोसेमंद देश साबित होगा, ऐसा आश्वासन अमरिका ने दिया है।

साउथ चाइना सी, फिलिपाईन्स, आपत्तियों, चेतावनी, चीन, विदेश मंत्रालयपिछले कुछ दिनों से साउथ चाइना से में गश्त को लेकर फिलिपाईन्स और चीन के बीच तनाव निर्माण हुआ है। पिछले दस दिनों से फिलिपाईन्स के हवाई दल ने यहाँ के ‘वेस्ट फिलिपाईन्स सी’ की समुद्री सीमा में गश्त शुरू की है। लेकिन पूरा साउथ चाइना सी पर अपना अधिकार जताने वाले चीन ने फिलिपाईन्स के विमानों को गंभीर परिणामों की चेतावनी दी है। चीन की नौसेना की तरफ से आने वाली यह धमकियाँ अंतर्राष्ट्रीय मीडिया ने प्रसिद्ध की थी। ईसीके साथ चीन द्वारा अपने पडौसी देशों को हररोज धमकियाँ दी जा रही हैं, ऐसा फिलिपाईन्स का आरोप भी प्रसिद्ध किया था।

इसके बाद फिलिपाईन्स के राष्ट्राध्यक्ष रॉड्रिगो दुअर्ते ने चीन की इस आक्रामकता पर आपत्ति जताई है। साथ ही चीन इस समुद्री क्षेत्र में आक्रामकता पर पुनर्विचार करे, ऐसा भी दुअर्ते ने कहा है। इस बात पर क्रोधित हुए चीन ने फिलिपाईन्स के राष्ट्राध्यक्ष के आपत्तियों को ख़ारिज किया है। साथ ही अपने समुद्री और हवाई क्षेत्र के पास से यात्रा करने वाले हर देश को धमकाना जारी रखने वाले हैं, ऐसी चेतावनी चीन के विदेश मंत्रालय ने दी है। उसीके साथ ही फिलिपाईन्स भी साउथ चाइना सी पर चीन की गश्त में शामिल हो सकता है, ऐसा प्रस्ताव रखा है।

चीन ने दी धमकी पर फिलिपाईन्स ने प्रतिक्रिया नहीं दी है। लेकिन पुराने भरोसेमंद देश के तौर पर अमरिका फिलिपाईन्स के साथ है, ऐसा अमरिकी रक्षा उपमंत्री ‘रैंडल श्रीव्हर’ ने घोषित किया है। आने वाले समय में साउथ चाइना सी का विवाद बढ़कर चीन ने फिलिपाईन्स पर हमला किया तो अमरिका फिलिपाईन्स की सुरक्षा के लिए संघर्ष में शामिल होगा, ऐसा श्रीव्हर ने कहा है।