ईरानी ‘ऑइल टैंकर्स’ की सुरक्षा के लिये रक्षादल सज्ज – ईरानी अधिकारीयों की गवाही

तृतीय महायुद्ध, परमाणु सज्ज, रशिया, ब्रिटन, प्रत्युत्तर

तेहरान/वॉशिंग्टन – ‘ईरान की ऑइल टैंकरों की किसी भी प्रकार के खतरों से रक्षा करने के लिये ईरान की रक्षादलें पहले के भांती ही तैयार है| इस कारण ईरान के टैंकर्स विश्‍व की किसी भी सागरी मार्ग से बेझिझक सफर कर सकते है’, ऐसी गवाही ईरान के उच्चस्तरीय लष्करी अधिकारी ने दी है| पिछले हफ्ते में ही अमरिका ने ईरान के ऑइल टैंकर को लक्ष्य करने की चेतावनी दी थी| ईरानी अधिकारी ने किया यह दावा अमरिका की इसी चेतावनी को जवाब है, दृष्टी से देखा जा रहा है|

अमरिका ने नवंबर के पहले हफ्ते में ईरान की इंधन निर्यात को लक्ष्य करने के लिये नये प्रतिबंध घोषित किये थे| लेकिन इसके बाद भी चीन, रशिया, युरोप के साथ कुछ एशियाई देश ईरान से इंधन खरिदी जारी रखने पर कायम है| ईरान ने भी अपनी निर्यात शुरू रखने के लिये सैटेलाईट ट्रांन्सपोंडर्स बंद करके अन्य विकल्प ढुंढ कर इंधन की निर्यात शुरू रखने की कोशिश शुरू की है| इस कारण अब अमरिका अधिक आक्रामकता से ईरान से इंधन खरिदी कर रहे देशों को भयानक संकट का सामना करना होगा, ऐसे डरा रहा है|

अमरिका के इस चेतावनी के पृष्ठभुमि पर ईरान ने भी अपनी ऑइल टैंकर्स की सुरक्षा करने के लिये बिलकुल तैयारी की है, यह दावा ईरान के लष्करी अधिकारी कर रहे है| अंतरराष्ट्रीय सागरी मार्ग से हो रही यातायात में बाधा निर्माण करना अंतरराष्ट्रीय कानून के खिलाफ होगा| इस प्रकार से बाधा लाने का रवैया किसी भी परिस्थिती में स्वीकार नही होगा| विश्‍व की किसी भी हिस्से में ईरान के हितसंबंक्ष महफूज रखने के लिये ईरानी रक्षा दल जरूरी क्षमता प्राप्त करके है, ऐसी गवाही रिअर ऍडमिरल महमूद मुसावी इन्होंने दी है|

इस दौरान, मुसावी इन्होंने पिछले चार दशकों में ईरान को कई धमकियां दी गई, लेकिन इसके बावजूद ईरान ने अपना सागरी कारोबार सफलता से शुरू रखा है, इस ओर ध्यान केंद्रित किया है| ईरान की रक्षा दले कारोबार के लिये ईरानी जहाजों को सभी सागरी मार्ग उपलब्ध रहे, इस कारण जरूरी सावधानी बरतेगी, ऐसा दावा भी उन्होंने किया|

अमरिका ने ईरान के इंधनकारोबार पर जारी किये हुए प्रतिबंधो के खिलाफ ईरान के रक्षा दलोंने आक्रामक रवैया अपनाया है| यदि ईरान का इंधन दुसरे देशों तक पहुंच पाया नही तो किसी और देशों के इंधन की यातायात होने नही देंगे| यह चेतावनी खरी करने की क्षमता अपने पास है, यह ईरान के कुदस् फोर्स के प्रमुख जनरल कासिम सुलेमानी इन्होंने कहा था|

ईरान के लष्करप्रमुख मेजर जनरल मोहम्मद हुसैन बाघेरी इन्होंन यह चेतावनी दी थी की, ईरान की इंधननिर्यात रोक दी गयी तो होर्मुझ की खाडी से हो रही अरब देशों के इंधन की यातायात भी बंद कर दी जायेगी| इसी बीच अमरिका के प्रतिबंधों असर ईरान की अर्थव्यवस्था पर हो रहा है और ईरान के सामने बन रहा आर्थिक संकट गहरा हो रहा है, ऐसा दावा ईरानी विश्‍लेषक कर रहे है| इसी परिस्थिती में ईरान के इंधन की यातायात कर रही कंपनीयों ने रोहानी सरकार के सामने ऑइल टैंकर्स की सुरक्षा के लिये बिमा राशी बढाने की मांग रखी है|