गाझापट्टी में इस्राइल का ‘स्पेशल ऑपरेशन’ कार्यवाही में हमास के कमांडर सहित ७ लोग ढेर

तृतीय महायुद्ध, परमाणु सज्ज, रशिया, ब्रिटन, प्रत्युत्तर

जेरूसलेम – इस्राइली सेना की विशेष दलों ने रविवार रात गाझापट्टी में घुंसकर की कारवाई में हमास के वरिष्ठ कमांडर सहित ७ लोग ढेर हुए| दो घंटो से अधिक लंबी चली इस कार्यवाही में इस्राइली स्पेशल फोर्सेस का एक जवान भी मारा गया| इस्राइल की सुरक्षा के लिये यह कार्यवाही अत्यंत जरुरी थी, यह दावा इस्राइल के रक्षादलप्रमुख जनरल गादी एश्केनॉत इन्होंने किया है| इस्राइल की इस कार्यवाही के बाद गाझापट्टी से हमास ने इस्राइली सरहद में १७ राकेट हमले किये|

रविवार रात गाझापट्टी के खान युनूस और नजदिकी क्षेत्र में इस्राइली सेना की स्पेशल फोेर्सेस ने यह कार्यवाही की| इस्राइली स्पेशल फोर्सेस के जवान कौन से हिस्से से गाझापट्टी में दाखिल हुए, इसकी जानकाही घोषित नही हुई है| लेकिन इस्राइली जवानों ने इस क्षेत्र में हमास के ठिकानों पर कार्यवाही की| इस दौरान हमास के हथियारबंद ‘अल कासेम ब्रिगेड’ संगठन का प्रभावी कमांडर नूर बराका ढेर हुआ| हमास के आतंकी और इस्राइल जवानों के बीच हुए संघर्ष में हमास के छह आतंकी मागे गये है और साथ ही इस्राइली सेना का वरिष्ठ अधिकारी की जान गई|

इस्राइली सेना की कारवाही में कमांडर बराका ढेर होना हमास के लिये बडा झटका माना जा रहा है| बराका यह इस्राइली सुरक्षा के लिये खतरा बना था, इस लिये यह कार्यवाही की गई ऐसी जानकारी इस्राइली सेनाने ने दी है| लेकिन गाझापट्टी में घुंसकर इस्राइली सेनाने की हुई इस कार्यवाही में हमास कमांडर के साथ छह पैलेस्टिनी नागरिकों की जान गई है, ऐसा दावा हमास से जुडे गुटों ने किया है| तो, गाझापट्टी में सेना घुंसाकर इस्राइल ने संघर्षबंदी लांघी है, यह आरोप भी हमास ने किया है|

इस के पहले २०१२ में इस्राइली सेना ने गाझापट्टी में इसी तरिके से स्पेशल ऑपरेशन किया था| उसके बाद इस्राइली सेना और गाझा के तीन आतंकी गुटों में लगातार आठ दिन संघर्ष हो रहा था|

पैरिस यात्रा बीच में छोडकर नेत्यान्याहू इस्राइल वापस लौटे

पिछले चौबीस घंटो में इस्राइल और गाझापट्टी के सरहद पर तनाव निर्माण होने से प्रधानमंत्री बेंजामिन नेत्यान्याहू फ्रान्स की यात्रा बीच में छोडकर इस्राइल वापस लौट आये है| इस्राइल पहुंचते ही प्रधानमंत्री नेत्यान्याहू इन्होंने अपनी सेनाकी कार्यवाही की सराहना की है|

सोमवार सुबह इस्राइल में दाखिल होते ही नेत्यान्याहू इन्होंने रक्षा मंत्री एविग्दोर लिबरमन और रक्षादलप्रमुख जनरल एश्केनॉत इनसे सीमा पर बनी स्थिती की जानकाही हासिल की| इसके साथ ही पूरी धीरता से इस्राइली सैनिकोंने इस मुहिम में जीत हासिल की, यह दावा प्रधानमंत्री नेत्यान्याहू इन्होंने किया|