पाकिस्तान ने पाले ‘लष्कर-ए-तोएबा’ और ‘जैश-ए-मोहम्मद’ का स्वतंत्रता दिवस पर आतंकवादी हमले का षडयंत्र – गुप्तचर संस्था की चेतावनी

नई दिल्ली: स्वतंत्रता दिवस पर बड़ा आतंकवादी हमला करने का षडयंत्र पाकिस्तान पुरस्कृत आतंकवादी संगठनों ने रचा है, ऐसी चेतावनी गुप्तचर विभाग ने दी है। इस रिपोर्ट के बाद सुरक्षा बलों को सावधानी की चेतावनी दी गई है। राजधानी दिल्ली आतंकवादी संगठनों का प्रमुख लक्ष्य है। इसके लिए ‘जैश-ए-मोहम्मद’ के आतंकवादी दिल्ली में दाखिल होने की जानकारी भी गुप्तचर विभाग के हाथ लगी है। साथ ही जम्मू-कश्मीर में भी लष्करी अड्डों पर बड़े आत्मघाती हमलों का षडयंत्र रचे जाने की खबर गुप्तचर संगठन की रिपोर्ट प्रसिद्ध हुई है।

स्वतंत्रता दिवस की पृष्ठभूमि पर गुप्तचर संगठनों ने सुरक्षा बलों को सतर्क रहने की चेतावनी दी है। ‘जैश’ का प्रमुख मौलाना मसूद अझहर का भाई मुफ़्ती अब्दुल रौफ असगर ने इसके लिए षडयंत्र रचने की जानकारी गुप्तचर संस्थाओं को मिली है। इसके लिए असगर के अंगरक्षक का काम किए मोहम्मद इब्राहीम उर्फ़ इस्माइल पर इसकी इज्म्मेदारी सौंपी गई है। गुप्तचर संस्थाओं के हाथ लगी जानकारी के अनुसार, मई महीने में ही इस्माइल ने अपने साथियों के साथ जम्मू-कश्मीर की सीमा से घुसपैठ की थी। इस्माइल इन दिनों दिल्ली में दाखिल होने की जानकारियां भी गुप्तचर संस्थाओं की एक रिपोर्ट में प्रसिद्ध हुई है।

पाकिस्तान, पाले, लष्कर-ए-तोएबा, जैश-ए-मोहम्मद, स्वतंत्रता दिवस, आतंकवादी हमले, षडयंत्र, गुप्तचर संस्था, चेतावनी, नई दिल्लीइसके अलावा मोहम्मद उमर नाम का ‘जैश’ का और एक आतंकवादी जम्मू-कश्मीर में भारतीय सीमा में घुसपैठ करने में सफल हुआ है, ऐसा भी रिपोर्ट में उल्लेख किया गया है। असगर के नेतृत्व में भारत में बड़े हमले करने की योजना बनाई गई है। स्वतंत्रता दिवस पर बड़े हमले करना इसी षडयंत्र का हिस्सा है। पकिस्तान के खैबर पख्तुनवाला प्रान्त में ‘जैश’ की एक बैठक हुई थी। इसमें भारत में कई आतंकवादी हमले करने का निर्णय लिया गया है। मसूद अझहर का भतीजा ‘तल्हा रशिद’ को नवम्बर में जम्मू-कश्मीर के पुलावा में सुरक्षा बलों ने ढेर किया था। उसका बदला लेने के लिए यह हमले किए जाने वाले हैं।

सन २०१६ में दिल्ली के नागरोटा में स्थित लष्करी अड्डे पर हुए हमले का और पठानकोट में स्थित वायुसेना के अड्डे पर हमले का षडयंत्र भी असगर ने रचा था। सन १९९९ में मसूद अझहर को छुड़ाने के लिए किए गए कंदहार विमान अपहरण में भी असगर का हाथ था। उस वजह से असगर की तरफ से स्वतंत्रता दिवस पर आत्मघाती षडयंत्र रचे जाने की जानकारी देते समय सुरक्षा बलों को सतर्क रहने की चेतावनी दी गई है।

इसके अलावा ‘लष्कर-ए-तोएबा’ की तरफ से भी स्वतंत्रता दिवस पर बड़ा आतंकवादी हमला करने का षडयंत्र रचा जा रहा है। लष्कर और जैश के आतंकवादी जम्मू-कश्मीर में स्थित भारतीय लष्कर के अड्डे पर हमला करने की योजना बना रहा है। लगभग १५ से २० आतंकवादी यह हमला कर सकते हैं। तंगधर सेक्टर और बारामुल्ला में स्थित लष्करी अड्डे लष्कर और जैश के आतंकवादियों का लक्ष्य है, ऐसी जानकारी गुप्तचर संगठनों के हाथ लगी है।

तुर्की 'अलेप्पो' के एहसानों का बदला चुकायेगा
अमरिकी राजदूत के तवांग दौरे पर नाराज़गी जतानेवाले चीन को भारत की फटकार
भारत की संरक्षणसिद्धता बढ़ाने की गतिविधियों में ते़ज़ी
‘डोकलाम’ की समस्या पहलेके सीमा विवाद से बहुत ही अलग है - चीन का दावा
हिन्द महासागर क्षेत्र का लष्करीकरण करनेवाले चीन पर रक्षामंत्री निर्मल सीतारामन की टीका
अमरिका के सुरक्षा सलाहकार के पदपर जॉन बोल्टन की नियुक्ति मतलब युद्ध की तैयारी - अमरिका के साथ साथ दु...
कीपैड जिहादी के विरोध में कार्रवाई तीव्र करेंगे - गृह मंत्रालय ने वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक बुलाई
‘साउथ चाइना सी’ क्षेत्र में चीन का छिपकर ‘इलेक्ट्रॉनिक युद्धाभ्यास’ - अमरिकन न्यूज़ चैनल का दावा

Leave a Reply

Your email address will not be published.