इस्राइली सीमा पर पॅलेस्टिनियों के उग्र प्रदर्शन; इस्राइल की कार्रवाई में एक प्रदर्शनकारी की मौत और ७०० घायल

तृतीय महायुद्ध, परमाणु सज्ज, रशिया, ब्रिटन, प्रत्युत्तर

जेरुसलेम – गाझापट्टी के पॅलेस्टिनियों ने इस्राइल की सीमारेखा के पास शुरू किए प्रदर्शनों की तीव्रता बढ़ गई है और इस्राइली लष्कर ने की कार्रवाई में एक प्रदर्शनकारी की जान गई है। प्रदर्शनकारियों ने गाझापट्टी से इस्राइल के सीमा इलाके में तैनात सैनिकों पर ग्रेनेड और काईट बम के हमले शुरू किए हैं। आने वाले कुछ दिनों में इस्राइल की सीमा के पास चल रहा यह प्रदर्शन अधिक हिंसक बनेगा, ऐसा इशारा हमास के नेताओं ने कुछ घंटों पहले दिया था।

इस्राइली लष्कर ने प्रसिद्ध की जानकारी के अनुसार, गाझापट्टी के दक्षिण में स्थित ‘खान युनिस’ इस सीमारेखा के पास प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए इस्राइली लष्कर को गोलियां चलानी पड़ी। इस कार्रवाई में एक पॅलेस्टिनी नागरिक की जान गई है। शुक्रवार से वापस शुरू हुए इस प्रदर्शन में १५ हजार प्रदर्शनकारी शामिल हुए थे। पिछले सात हफ़्तों की तुलना में शुक्रवार के यह प्रदर्शन अधिक हिंसक और आक्रामक थे, ऐसा दावा इस्राइली लष्कर कर रहा है।

इस्राइली सीमा

इसमें से कुछ प्रदर्शनकारियों ने इस्राइली सैनिकों पर पाईप बम, काईट बम, ग्रेनेड और पत्त्थर फेंके। साथ ही जलते टायर्स और सीमारेखा पर उखड़े हुए बाड़ के तार भी सैनिकों पर फेंके, यह जानकारी इस्राइली लष्कर ने दी है। प्रदर्शनकारियों के इन हमलों में जीवितहानि नहीं हुई है, लेकिन खान युनिस, केरेम शालोम इन सीमारेखाओं का नुकसान हुआ है। इस वजह से इस्राइल को इस सीमारेखा पर सैनिकों की तैनाती बढानी पड़ी है।

गाझापट्टी पर लगाए हुए प्रतिबन्ध इस्राइल वापस ले और सीमारेखा को खुला कर दे, ऐसी प्राथमिक माँग करते हुए हमास ने इन प्रदर्शनों का आयोजन किया था। लेकिन अगले कुछ ही दिनों में हमास ने इस्राइल सीमारेखा में घुसने का सूचना प्रदर्शनकारियों को देने के बाद इन प्रदर्शनों ने उग्ररूप धारण किया है। अब इस्राइल की सीमा में घुसने वाले यह प्रदर्शन आने वाले समय में अधिक आक्रामक होने वाले हैं, ऐसी घोषणा हमास के नेताओं ने की है। ‘मार्च ऑफ़ रिटर्न’ से शुरू हुए यह प्रदर्शन जल्द ही जेरुसलेम तक जाएंगे, ऐसी धमकी हमास ने दी है। गाझापट्टी के हमास नेताओं ने इसके लिए दो दिनों पहले विशेष सभा ली थी।

अलेप्पो पर रशिया-सीरिया के हवाई हमलें जारी; अमरीका, मित्र देशों की बैठक
आंतर्राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था पर १५२ लाख करोड़ का ॠण : आंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष की चेतावनी
अमरीका का रशिया के खिलाफ ‘सायबरजंग’ का मनसूबा; खुफ़िया एजन्सी ‘सीआयए’ पर ज़िम्मेदारी
जर्मन पुलिस दल मे अरब टोलियों की घुसपैठ- वरिष्ठ पुलिस अधिकारी का इशारा
नेपाल का चीनी कंपनी के साथ २.५ अब्ज डॉलर्स का करार रद्द
अफगानिस्तान में सुरक्षा रक्षक और आतंकवादियों के बिच संघर्ष भड़का
रशिया में सीरिया विषयक चर्चा नाकाम - चर्चा में अस्साद विरोधकों की रशियन विदेशमंत्री पर टिपण्णी, चर्च...
नॉटपेटया सायबर हमले के पीछे रशिया का हाथ- अमरिका एवं ब्रिटेन का आरोप

Leave a Reply

Your email address will not be published.