रशिया-युक्रेन के बीच बढते तनाव की पृष्ठभुमि पर – अमरिकी युद्धपोत रोमानिया में दाखिल

Third World Warबुकारेस्ट: रशियन नौसेना ने युक्रेन के जहाज कब्जें में लेने से ‘ब्लैक सी’ की क्षेत्र में तनाव बना है| ऐसे में अमरिकी विध्वसंक इस सागरी क्षेत्र में दाखिल हुई है| अपने पूर्वीय युरोप के मित्रदेशों की सुरक्षा और स्थिरता के लिए हम प्रतिबद्ध है यह विश्‍वास दिलाने के लिए अमरिकी विध्वंसक इस क्षेत्र में युद्धाभ्यास करेगी| अमरिकी नौसेना ने यह ऐलान किया है और इस युद्धाभ्यास में रोमानिया भी शामिल होगा| इस दौरान, अमरिकन विध्वसंक का ‘ब्लैक सी’ में दाखिल होना यानी यह रशिया के लिए चेतावनी है, यह दावा पश्‍चिमी देशों के माध्यम कर रहे है|

अमरिकी नौसेना की ‘सिक्स्थ फ्लिट’ ने सोशल मीडिया के जरिये ‘यूएसएस फोर्ट मैक्हेन्री’ यह विध्वंसक ‘ब्लैक सी’ की दिशा में रवाना होने की घोषणा की है| अगले चार दिनों के लिए यह विध्वंसक रोमानिया में तैनात रहेगी| इसके पहले भूमध्य समुद्र में तैनात रही यह विध्वंसक नाटो के सदस्य और अमरिका के मित्र देशों की सुरक्षा के लिए रवाना की जा रही है, यह जानकारी अमरिकी नौसेना ने दी है| साथ ही अमरिकी विध्वंसक का ‘ब्लैक सी’ का यह सफर और इस सागरी क्षेत्र में रोमानिया के नौसेना के साथ युद्धाभ्यास करना नियमित टाईम टेबल का हिस्सा होने का दावा अमरिकी नौसेना ने किया है|

रशिया, युक्रेन, बीच, बढते तनाव, पृष्ठभुमि, अमरिकी युद्धपोत, रोमानिया, दाखिलअमरिका की यह विध्वंसक हेलिकाप्टर और विमान विरोधी तोपों से लैस है| अमरिका के इस विध्वंसक का इस्तेमाल सिर्फ लष्करी ढुलाई के लिए होता है| लेकिन समुद्री डकैती के विरोध में भी जिम्मेदारी निभाई थी| इस वजह से रशिया और युक्रेन की नौसेना के बीच हुई घटनाओं की वजह से पिछले महीने से इस समुद्री क्षेत्र में बने तनाव की पृष्ठभुमि पर अमरिकी विध्वंसक की रोमानिया में हो रही तैनाती के ओर देखा जा रहा है|

पिछले वर्ष २५ नवंबर के दिन रशियन नौसेना ने ‘सी ऑफ एझोव्ह’ में की कार्रवाई में युक्रेन की नौसेना के दो जहाज और नौसैनिकों को गिरफ्त में लिया था| इस वजह से ‘सी ऑफ एझोव्ह’ और ‘ब्लैक सी’ के समुद्री क्षेत्र में तनाव बना था| इसके अलावा रशिया ने युक्रेन के पूर्वीय सरहद के निकट बडी मात्रा में टैंक, तोप और सैनिक तैनात किए थे| सैटेलाईट फोटो की सहायता से युक्रेन ने यह जानकारी उजागर की थी| साथ ही रशिया क्रिमिआ के साथ ही युक्रेन के भी और टुकडे करने की तैयारी में होने का आरोप भी युक्रेन ने किया था|

रशिया की इस आक्रामकता को चुनौती देने के लिए युरोपीय देश सहायता करे, ऐसी दर्ख्वास्त युक्रेन ने किया था| उसके बाद ब्रिटेन के रक्षा मंत्री विल्यम्सन और ब्रिटेन की युद्धपोत युक्रेन की बंदरगाह में दाखिल हुई थी| इस से यहा के समुद्री क्षेत्र में बने तनाव में बढोतरी हुई थी| इस विवाद में अमरिका ने युक्रेन का राजनीतिक स्तर पर समर्थन किया था| वही, सोमवार के दिन ‘फोर्ट मैक्हेन्री’ यह विध्वंसक ब्लैक सी में रवाना करके अमरिका ने रशिया को चेतावनी देने का दावा किया जा रहा है|