उत्तर कोरिया ने किया ‘टैक्टिकल मिसाइल’ का परीक्षण – एटमी केंद्र में भी संदिग्ध गतिविधियां शुरू

तृतीय महायुद्ध, परमाणु सज्ज, रशिया, ब्रिटन, प्रत्युत्तरसेउल/वॉशिंगटन – पूर्ण परमाणु शस्त्र बंदी के बारे में अमरिका से लगातार किए जानेवाले मांग पर भी नाराजगी व्यक्त करके, उत्तर कोरिया ने टैक्टिकल गाइडेड मिसाइल का परीक्षण किया है| उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन इनकी उपस्थिति में यह परीक्षण होने की बात उत्तर कोरिया के सरकारी वृत्त माध्यम ने घोषित की है| उस समय उत्तर कोरिया के योंगब्यौन परमाणु प्रकल्प में परमाणु बम निर्माण के लिए आवश्यक गतिविधियां शुरू होने की जानकारी सामने आ रही है| उत्तर कोरिया के इस प्रक्षोभक परीक्षण एवं परमाणु गतिविधियों पर अमरीका से तीव्र प्रतिक्रिया अपेक्षित है|

लगभग महीने पहले अमरिका के राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प और उत्तर कोरियन तानाशाह किम जोंग उन इनमें व्हिएतनाम में हुई दूसरे स्तर की बैठक हुई| इस बैठक में उत्तर कोरिया ने अमरिका के पास उनपर लगे प्रतिबंध कम करने की मांग की थी| अमरिका मित्र देश एवं अंतरराष्ट्रीय समुदाय से सहूलियत मिलने के बाद ही उत्तर कोरिया अमरिका के सभी शर्तों का विचार करेगा, ऐसा प्रस्ताव इस देश ने दिया था|

पर अमरिका ने उत्तर कोरिया का यह प्रस्ताव ठुकराया है| परमाणु शस्त्र निर्माण का कार्यक्रम पूर्णरूप से बंद करना और बैलस्टिक मिसाइल निर्माण के कार्यक्रम से वापसी करने तक अमरिका उत्तर कोरिया को सहूलियत नहीं देगा, ऐसा राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प ने स्पष्ट किया था| अमरिका के विदेशमंत्री माइक पोम्पिओ ने भी अपनी मांग के बारे में उत्तर कोरियन प्रतिनिधि से चर्चा करने का ऐलान किया था| इसी बीच अमरिका एवं उत्तर कोरिया में समझौते असफल होने की खबर प्रसिद्ध हुई थी| अमरिका ने इस पर हल ढूंढने की घोषणा की है, फिर भी इसके लिए उत्तर कोरिया तैयार ना होने की बात कही थी|

ऐसी स्थिति में उत्तर कोरिया ने बुधवार को टैक्टिकल गाइडेड मिसाइल का परीक्षण करने की बात घोषित की है| यह बैलेस्टिक मिसाइल ना होकर टैक्टिकल मिसाइल के परीक्षण ने अंतरराष्ट्रीय नियमों का उल्लंघन ना होने का दावा उत्तर कोरिया वृत्त माध्यम ने किया है| तथा टैक्टिकल मिसाइल का परीक्षण करके उत्तर कोरिया ने अमरिका को चेतावनी देने का दावा अग्रणी के माध्यम कर रहे हैं| उत्तर कोरिया के इस परीक्षण की खबर को अमरिका के रक्षा मुख्यालय पेंटागौन ने समर्थन दिया है| इस बारे में अमरिका से अधिकृत स्तर पर कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है|

उत्तर कोरिया से यह परीक्षण किया जा रहा था तभी अंतरराष्ट्रीय माध्यमों में उत्तर कोरिया के परमाणु परीक्षण के गतिविधियों के बारे में जानकारी प्रसिद्ध हुई है| अमरिका का विश्वासघात करके उत्तर कोरिया ने योंगब्यौन परमाणु प्रकल्प फिर से कार्यान्वित करने का दावा अमरिकन अभ्यास गुटने किया है| इसके लिए अमरिकी अभ्यास गुटने ५ दिनों पहले सैटलाइट से लिए गए फोटो प्रसिद्ध किए हैं| जिनमें परमाणु बम के लिए आवश्यक ईंधन पर पुन:प्रक्रिया शुरु होती दिखाई दे रही है, ऐसा दावा इस अभ्यासगुट ने किया है|