गोलन पहाड़ी के सरहद क्षेत्र में इस्रायल और सीरियन सेना के बीच संघर्ष शुरू

जेरूसलेम/दमास्कस/तेहरान, दि. २६ : सीरिया की गोलन पहाड़ियों के सरहदी इलाके में लगातार दूसरे दिन इस्रायल की सीमारेखा पर गोलीबारी की गयी| इस समय संयुक्त राष्ट्रसंघ की गश्तीचौकियों पर भी गोलीबारी होने की जानकारी सामने आयी है| इसके बाद इस्रायल ने फिर से सीरिया के सीमाइलाके के टैंकों पर हमले किये| इस्रायल के इन हमलों पर सीरिया ने तीव्र नाराज़गी जताते हुए, इस्रायल के हमलों का जबाब देने की चेतावनी दी|

शनिवार के दिन सीरिया के गोलन पहाड़ियों के इलाके से इस्रायल के गोलन भाग में रॉकेट हमले किए गये थे| इसके बाद इस्रायली लडाकू विमानों ने किए हमलों में सीरियन सेना के टैंक और गश्तीचौकी जलकर राख हुई थी| इस्रायल और सीरियन सेना के संघर्ष को कुछ घंटे नहीं हुए कि तभी रविवार के दिन फिर से सीरियन सीमारेखा से इस्रायल के गोलन भाग में गोलीबारी हुई और रॉकेटस् फेंके गये| इस्रायली सेना ने सोमवार के दिन दी जानकारी के अनुसार, गोलन पहाडी की सीमारेखा पर तैनात संयुक्त राष्ट्रसंघ के शांतिसैनिकों की चौकी पर भी गोलीबारी हुई|

गोलनसीरिया से हुई इस गोलीबारी के जबाब में, इस्रायली सेना के टैंक ने सीरियन सेना की आर्टिलरी पर दो जगहों पर हमले किये| साथ ही, विस्फोटक से भरे ट्रक को भी लक्ष्य किया| इस हमले में किसी की जान नहीं गयी, ऐसी जानकारी दोनों देशों की सेनाओं ने दी| लेकिन गोलन पहाडी में इस्रायल और सीरियन सेना के बीच संघर्ष तीव्र हो रहा है| सोमवार दोपहर तक दोनों बाजुओं से किसी भी प्रकार का हमला होने की खबर नहीं|

सीरियन सेना की गश्तीचौकी, टैंक और सेना के वाहन पर हमले करनेवाले इस्रायल की सीरिया ने ज़ोर से आलोचना की है| इसके बाद यदि इस्रायल ने सीरिया के सीमाइलाके में हवाई हमलें किए, तो इसके लिए इस्रायल को गंभीर नतीजों का सामना करना पड़ेगा, ऐसी चेतावनी सीरियन सेना ने दी| इसके साथ ही, सीरिया के आतंकवादी संगठनों की मदद करने के लिए इस्रायल ने सीरियन सेना पर यह हमला किया, ऐसा इल्ज़ाम सीरियन सेना ने लगाया है| उसी समय, अपनी सेना ने सीरिया के आतंकी संगठनों को नष्ट करनेकी ठान ली होकर, इस्रायल इन आतंकवादियों का इस्तेमाल सीरिया में संघर्ष भड़काने के लिए कर रहा है, ऐसा इल्ज़ाम इस वक्त सीरियन सेना के वरिष्ठ अधिकारी ने लगाया है|

वहीं, गोलन पहाडी के सीमाइलाके में सीरियन सेना और समर्थक सशस्त्र संगठनों की बढतीं गतिविधियाँ इस्रायल के खिलाफ हैं, ऐसा दावा इस्रायल कर रहा है|

सीरिया में संघर्ष कर रहे ईरान के रिव्होल्युशनरी गार्डस्, कुर्दस् फोर्सेस के सैनिक और हिजबुल्लाह की, गोलन पहाडी के इलाके में गश्त बढ गयी है| गोलन भाग में ‘आयएस’ और अन्य आतंकी संगठनों के बढते कारनामों को रोकने का बहाना बनाकर सीरिया और ईरान की सेनाओं की जो गतिविधियाँ बढीं हैं, वह इस्रायल की सुरक्षा के लिए चुनौती है, ऐसी आलोचना इस्रायल कर रहा है|

इस दौरान, गोलन पहाडी के सीमाइलाके में शुरू इन गतिविधियों पर युरोपीय देशों ने इससे पहले ही चिंता जतायी थी| साथ ही, शांति बरकरार रखने का आवाहन दोनो गुटों से किया था| इस्रायल सीमाइलाके में तनाव ना बढायें, ऐसी सूचना भी की थी| लेकिन अमरीका का ट्रम्प प्रशासन अपने दोस्त-देश इस्रायल के समर्थन में खडा है|