यूएसएस रॉस की इस्रायल भेंट खाड़ी देशों के बाहरी देशों को संदेश देनेवाली – इस्रायल के प्रधानमंत्री नेत्यान्याहू की रशिया को चेतावनी

यूएसएस रॉस की इस्रायल भेंट खाड़ी देशों के बाहरी देशों को संदेश देनेवाली – इस्रायल के प्रधानमंत्री नेत्यान्याहू की रशिया को चेतावनी

अश्दोद – भूमध्य समुद्र में तैनात होनेवाले अमरिका की यूएसएस रॉस युद्धपोत इस्रायल में दाखिल हुई है| अमरिकी युद्धपोत की यह इस्रायल भेंट मतलब अमरिका द्वारा इस्रायल को होनेवाले समर्थन का प्रतीक है| यह संदेश खाड़ी देशों को नहीं बल्कि सारी दुनिया को मिल रहा है, ऐसे शब्दों में इस्रायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेत्यान्याहू ने […]

Read More »

५३. ‘नेक्स्ट इयर इन जेरुसलेम’

५३. ‘नेक्स्ट इयर इन जेरुसलेम’

‘नेक्स्ट इयर इन जेरुसलेम….’ हर साल ‘पासओव्हर’ और ‘योमकिप्पूर’ इन ज्यूधर्मीय त्यौहारों में की जानेवालीं प्रार्थनाओं के अन्त में, सालों साल….सदियों से, दुनिया के किसी भी कोने में होनेवाला (‘ज्यू डायस्पोरा’ में स्थित) हर एक ज्यूधर्मीय उपरोक्त शब्द कहता आया है….और ये शब्द बिलकुल भक्तिभाव के साथ और विश्‍वासपूर्वक कहते हुए वह थोड़ासा भी ऊबा […]

Read More »

इजराइल पर हमलों के लिए ईरान को सीरिया और लेबेनॉन का इस्तेमाल करने नहीं देंगे – इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेत्यान्याहू की चेतावनी

इजराइल पर हमलों के लिए ईरान को सीरिया और लेबेनॉन का इस्तेमाल करने नहीं देंगे – इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेत्यान्याहू की चेतावनी

जेरुसलेम – ‘इजराइल आत्मरक्षा के लिए कोई भी निख का कदम उठाने के लिए तैयार है।इजराइल पर हमले करने के लिए ईरान की तरफ से सीरिया और लेबेनॉन का इस्तेमाल होने की संभावना है और ईरान की यह कोशिश कभी सफल होने नहीं दूंगा’, इन शब्दों में इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेत्यान्याहू ने ईरान को […]

Read More »

सीरिया में ‘एस-३००’ तैनात के बाद इजराइल हमलों के बारे में सावधानी से फैसला करे – रशिया के उपविदेश मंत्री की चेतावनी

सीरिया में ‘एस-३००’ तैनात के बाद इजराइल हमलों के बारे में सावधानी से फैसला करे – रशिया के उपविदेश मंत्री की चेतावनी

मॉस्को – ‘सीरिया में रशियन विमान पर हुए हमले के लिए इजराइल जिम्मेदार होते हुए भी रशिया और इजराइल के बीच संघर्ष नहीं भड़कने वाला है।अपनी इस भूमिका पर रशिया कायम है।फिर भी सीरिया में ‘एस-३००’ की तैनाती के बाद इजराइल सीरिया में हमले करने से पहले देश हितकारक निर्णय ले’, ऐसी स्पष्ट चेतावनी रशिया […]

Read More »

५२. आधुनिक इतिहास की दहलीज़ पर

५२. आधुनिक इतिहास की दहलीज़ पर

इस प्रकार जेरुसलेमस्थित ज्यूधर्मियों ने पुनः ग़ुलामी में ही नये सहस्राब्द में (इसवीसन के दूसरे सहस्राब्द में – मिलेनियम में) प्रवेश किया था| अब गत लगभग ४५० वर्ष मुस्लिमों के विभिन्न खलिफाओं के वंशों का राज्य जेरुसलेम प्रान्त पर था| सारे युरोप भर में तथा मध्यपूर्व में भी अब बायझन्टाईन साम्राज्य को अरब आक्रमकों के […]

Read More »

अमरिका की तरफ से इजराइल को ३८ अरब डॉलर्स की लष्करी सहायता

अमरिका की तरफ से इजराइल को ३८ अरब डॉलर्स की लष्करी सहायता

वॉशिंगटन/जेरुसलेम – अमरिका की तरफ से इजराइल को दी जाने वाली लष्करी सहायता ट्रम्प प्रशासन ने फिरसे शुरू करने का निर्णय लिया है।दोनों देशों बीच हुए लष्करी अनुबंध के अनुसार अमरिका की तरफ से इजराइल को ३८ अरब डॉलर्स की लष्करी सहायता मिलने वाली है और इजराइल को दी जाने वाली वार्षिक लष्करी सहायता में […]

Read More »

५१. परतन्त्रता में एक और सहस्रक

५१. परतन्त्रता में एक और सहस्रक

ज्यूधर्म में निर्माण हुए सदूकी, फरिसी, एस्सेनी, झीलॉट् आदि गुटों में से सदूकी, एस्सेन, झीलॉट ये गुट इस पहले ज्युइश-रोमन युद्ध के बाद लगभग नामशेष ही हुए और उनमें से केवल फरिसीज् यह मध्यममार्गीय माना जानेवाला गुट ही अपना अस्तित्व बरक़रार रख सका| इन फरिसीज् से ही आगे चलकर ‘रब्बीनिक ज्युडाइझम’ (लिखित एवं मौखिक रूप […]

Read More »

५०. पहला ज्यूइश-रोमन युद्ध; दूसरे होली टेंपल का ध्वंस

५०. पहला ज्यूइश-रोमन युद्ध; दूसरे होली टेंपल का ध्वंस

इसवीसन ६६ में पहले ज्यूइश-रोमन युद्ध की शुरुआत हुई, लेकिन उसके बीज इसवीसन ६ में ही बोये गये थे। स्थानीय रोमन अधिकारियों का दमनतन्त्र और उनका भ्रष्टाचार तथा रोमन शासकों का ज्यूधर्मतत्त्वों को मनाही करनेवाला रवैया इनके कारण दिनबदिन ज्यूधर्मियों में असंतोष बढ़ता ही जा रहा था। गॅमला के ज्युडास के बाद इस बग़ावत का […]

Read More »

४९. ज्यूधर्मियों की रोमनों के खिलाफ़ बग़ावत

४९. ज्यूधर्मियों की रोमनों के खिलाफ़ बग़ावत

मॅथॅटियस ने सेल्युसिड साम्राज्य के साथ शुरू की हुई, ज्यूधर्मियों पर लगाये गये धार्मिक निर्बन्धों के खिलाफ़ की लड़ाई को उसके इसवीसनपूर्व ३७ में रोमन शासकों ने हेरॉड को बतौर ‘ज्युडिआ का राजा’ मान्यता दी। अगले ३३ साल यानी इसवीसनपूर्व ४ में हुई हेरॉड की मृत्यु तक उसकी यह सत्ता अबाधित रही। इस प्रान्त का […]

Read More »

दो हजार सालों के बाद इस्राइल में ‘रेड हेफर’ का जन्म

दो हजार सालों के बाद इस्राइल में ‘रेड हेफर’ का जन्म

जेरुसलेम – लगभग २००० वर्षों की अवधि के बाद इस्राइल में ‘रेड हेफर’ अर्थात पूरी तरह लाल रंग के बछड़े ने जन्म लिया है। बायबल में की गई भविष्यवाणी के अनुसार यह घटना घटी है, ऐसा दावा ज्यू धर्मी कर रहे हैं और यह घटना अपना तारणहार जल्द ही अवतार लेने वाला है, इसका संकेत […]

Read More »
1 2 3 22