कट्टर पंथियों के बच्चों से जर्मनी को बड़ा खतरा – जर्मनी के अंतर्गत गुप्तचर यंत्रणा के प्रमुख का दावा

तृतीय महायुद्ध, परमाणु सज्ज, रशिया, ब्रिटन, प्रत्युत्तर

बर्लिन – ‘जर्मनी को कट्टरपंथियों के बच्चों से बहुत बड़ा खतरा हो सकता है। इसीलिए कट्टरवाद का प्रशिक्षण लेने वाले १४ साल के नीचे के बच्चों की पूछताछ करने की अनुमति दी जाए’, ऐसी माँग जर्मनी के अंतर्गत गुप्तचर यंत्रणा के प्रमुख ‘हँस गिओर्ग मासेन’ ने की है। जर्मनी में कट्टरवाद के प्रभाव में आए ३०० बच्चे हैं। यह जानकारी मासेन ने दी है।

जर्मनी की ‘प्रोटेक्शन ऑफ़ द कॉन्स्टिट्यूशन ‘ (बीएफव्ही) के अंतर्गत गुप्तचर यंत्रणा के प्रमुख मासेन ने सोमवार को जर्मनी के कट्टरपंथी और उनके बच्चों में बढ़ते कट्टरवाद के बारे में चिंता व्यक्त की है। जर्मनी के एक मीडिया ने मासेन के हवाले से प्रसिद्ध की जानकारी के अनुसार, बच्चों को और युवकों को कट्टरपंथी बनाने का काम बहुत ही तेजी से हो रहा है और वह बहुत ही आसान है। इसके पहले ऐसा जर्मनी में देखने नहीं मिला था, ऐसा मासेन ने कहा है।

गुप्तचर यंत्रणा, दावा, BFV, हँस गिओर्ग मासेन, कट्टरवाद, समर्थन, जर्मनी, CDU

मासेन के निरिक्षण में तैयार हुए ‘बीएफव्ही’ की रिपोर्ट में जर्मनी में लगभग ३०० बच्चों को कट्टरपंथी बनाया गया है। इसमें से कुछ बच्चों को उनके परिवार वालों ने जन्मसे ही कट्टरवाद का सबक सिखाया है।

हिंसा कैसे उचित है और अपने विचारों पर सहमत न होने वालों पर किस तरह से हुकुमत की जा सकती हैं, इसकी शिक्षा उनके परिवार वालों से मिलने की चौंकाने वाली जानकारी ‘बीएफव्ही’ की रिपोर्ट से सामने आई है। उसमें भी खाड़ी देशों में चल रहे संघर्ष से जर्मनी में अपने परिवार में लौटे कट्टरपंथियों की ओर से खतरा बढ़ने की चिंता इस रिपोर्ट में जताई गई है।

बच्चों को कट्टरपंथी बनाने का खतरा अभी दिखाई नहीं दे रहा, लेकिन आने वाले समय में जर्मनी की सुरक्षा के लिए यह बड़ी चुनौती साबित हो सकती है, ऐसी मासेन ने चेतावनी दी है। इसे टालना है, तो जर्मनी के कट्टरपंथी और संदिग्धों के बच्चों पर नजर रखना, उनकी पूछताछ करना और मार्गदर्शन करने की अनुमति दी जाए, ऐसी मासेन ने माँग की है।

मासेन की इस रिपोर्ट के बाद जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल की ही ‘ख्रिश्चन डेमोक्रेटिक यूनियन’ (सीडीयू) इस पार्टी के कुछ नेताओं ने १४ साल के नीचे के बच्चों की पूछताछ को अनुमति देने की माँग पर जोर दिया है। मर्केल की सत्तारूढ़ सरकार की पार्टी की तरफ से भी मासेन की माँग को समर्थन मिल रहा है।

सीरिया संघर्ष की पृष्ठभूमि पर रशिया और तुर्की द्विपक्षीय सहयोग बढ़ाएँगे
पाकिस्तानी सेना की ओर से सीमा पर होने वाले हमलों को प्रत्युत्तर देने का भारतीय सेना को अधिकार - भारत...
डोकलाम मुद्देपर चीन का रवैया कायम
अफ़गानिस्तान के संघर्ष का पाकिस्तान पर परिणाम होने नहीं देंगे - पाकिस्तान के लष्कर प्रमुख बाजवा
अमरिका अफ्रीका में स्थित आतंकवादियों को लक्ष्य बनाएगा
रशिया के खिलाफ यूरोप को युद्धसज्ज करने के लिए नाटो की जोरदार गतिविधियाँ
अमरिका किसी भी खतरे का सामना करने के लिए सुसज्ज- अमरिका के वरिष्ठ लष्करी का प्रत्युत्तर
रशिया की आक्रामक नीति के खिलाफ ‘जी७’ की एकजुट - अमरिकी अधिकरियों का दावा

Leave a Reply

Your email address will not be published.