अमरिका ने सीरिया में रशिया के जगहों पर हमले की आशंका ठुकराई नहीं है – अमरिकी दैनिक का दावा

वॉशिंग्टन: सीरिया के इदलिब पर सीरियन लष्कर ने और रशिया ने हमले किए तो उसके भयंकर परिणाम होंगे, ऐसा अमरिका ने सूचित किया था। अमरिका के इन चेतावनियों को नजरअंदाज करके सीरियन लष्कर के साथ रशिया ने इदलिब में बागियों पर हमले किए थे। उसमें रशियन नौदल एवं वायुसेना सीरिया के किनारे के पास भूमध्य समुद्र के क्षेत्र में युद्धाभ्यास द्वारा अपनी क्षमता का प्रदर्शन कर रही है। इसकी वजह से बौखलाए हुए अमरिका ने अपनी नियोजित योजना कार्यान्वित की है और आने वाले दिनों में सीरिया में ईरान एवं रशिया के जगहों को भी लक्ष्य किया जा सकता है, ऐसा संदेश अमरिका ने दिया है।

सीरिया, रशिया, जगहों पर, हमले, आशंका, ठुकराई नहीं, अमरिकी दैनिक, दावा, वॉशिंग्टन, इदलिबअमरिका के अग्रणी दैनिक द वॉल स्ट्रीट जर्नल ने इस बारे में वृत्त प्रसिद्ध किया है। आने वाले समय में अमरिका सीरिया में रशिया के जगहों पर हमले करने से नहीं रुकेगा, ऐसा दावा इस वृत्तपत्र ने किया है। अमरिका के रक्षा मुख्यालय पेंटागौन सीरिया पर कार्रवाई के बारे में अधिक विकल्प का विचार कर रहा है, ऐसी जानकारी एक अमरीकी अधिकारी ने देने की बात इस वृत्तपत्र ने कही है। सीरिया में रशिया के जगहों पर हमला करना है, तो कौन सी जगह? उसके बाद संघर्ष की व्याप्ति का विचार शुरू है। सीरिया में रशिया की हवाई सुरक्षा यंत्रणा पर हमला किया तो, अस्साद सल्तनत का बहुत बड़ा नुकसान हो सकता है, ऐसा दावा इस दैनिक ने किया है।

अमरिका के लष्करी कार्रवाई के बारे में इस समय कुछ कहा नहीं जा सकता। अस्साद ने सरीन और क्लोरीन रासायनिक शस्त्रों का उपयोग करके सीरियन जनता की जान एवं क्षेत्रीय स्थिरता को खतरा निर्माण किया, तो सीरिया पर लष्करी कार्रवाई अटल है, ऐसी चेतावनी पेंटागौन के प्रवक्ता डॅना व्हाईट ने दी है। इस कारवाई के बारे में व्हाइट ने अधिक जानकारी नहीं दी है। इसकी वजह से अस्साद सल्तनत में रासायनिक शस्त्रों का उपयोग करने के बाद अमरिका द्वारा सीरियन लष्कर के साथ सीरिया में रशिया एवं ईरान के जगहों पर लक्ष्य करने के संकेत मिल रहे हैं। इस लष्करी कार्रवाई के साथ अस्साद सल्तनत पर राजनीतिक दबाव बढ़ाने के बारे में अमरिका विचार कर रही है, ऐसी जानकारी पेंटागौन के अधिकारी ने दी है।

दौरान लगातार तीसरे दिन रशिया एवं सीरिया के इदलिब पर हमले शुरू है। रविवार को सीरियन लष्कर के हेलीकॉप्टर ने इदलिब पर ५५ बैरल बम के हमले किए थे। तथा रशियन लड़ाकू विमानों ने अन्य भाग में हवाई हमले की कार्रवाई की थी। पिछले ३ दिनों में रशिया ने इदलिब में किए हमले में बड़ी वित्तहानि हुई है और ३ अस्पताल, दो वैद्यकीय सुविधा केंद्र, कई एंबुलेंस नष्ट होने की जानकारी सामने आ रही है।

रशिया तथा सीरिया के इस हमले की वजह से इदलिब में एवं पास होने वाले हमा प्रांत में हजारों नागरिक सुरक्षा के लिए अन्य शहरों की दिशा से स्थानांतरित हो रहे हैं। रशिया के इस कार्रवाई पर अमरिका ने आलोचना की है। अस्साद सल्तनत जल्द ही इदलिब में बागियों के जगहों पर रासायनिक हमला करने की तैयारी में होने का दावा अमरिकी अधिकारियों से किया जा रहा है।