भारत ‘पुलवामा’ भुलेगा नही – राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने दिया इशारा

तृतीय महायुद्ध, परमाणु सज्ज, रशिया, ब्रिटन, प्रत्युत्तरनई दिल्ली – ‘भारत पुलवामा में हुआ हमला भुला नही है और यह हमला करनेवालों को माफ भी किया नही जाएगा| इसे कब और कैसे जवाब देना है, यह देश का नतृत्व निश्‍चित करेगा’, इन शब्दों में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोवल इन्होंने कडी चेतावनी दी है| पुलवामा का हमला भूलकर दोनों देशों में नए से बातचीत शुरू करने का प्रस्ताव पाकिस्तान दे रहा है| इस पृष्ठभूमि पर भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने पाकिस्तान को यह ‘समझ’ देकर सबका ध्यान आकर्षित किया है| भारत आनेवाले दौर में भी पाकिस्तान में आतंकियों को लक्ष्य कर सकता है, यह कहकर डोवल इन्होंने इस मामले पर परदा गिराने की कोशिश कर रहे पाकिस्तान को फटकार लगाई है|

बालाकोट में हवाई हमला करने के बाद भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने पाकिस्तान के ‘आईएसआई’ के प्रमुख के साथ फोन पर बात की थी| इस दौरान राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोवल इन्होंने पाकिस्तान की दिशा में भारत ने अपनी मिसाइल तैनात रखी है, यह चेतावनी दी थी| साथ ही पाकिस्तान को यदि यह संघर्ष भडकाने की इच्छा है तो भारत उसका भी सामना करने के लिए सक्षम है, यह कहकर डोवल इन्होंने ‘आईएसआई’ के प्रमुख को फटकार लगाई थी| मंगलवार के दिन नई दिल्ली के निकट गुरूग्राम में हुए ‘सीआरपीएफ’ के ८० वे स्थापनादिन समारोह में बोलते समय डोवल इन्होंने ‘पुलवामा’ हमले का जिक्र किया|

पुलवामा में हुए हमले में ‘सीआरपीएफ’ के ४० जवान शहीद हुए थे| यह हमला भारत कभी भी भुलेगा नही और देश को यह हमला कभी भी भुलना नही होगा, ऐसा डोवल ने कहा था| इस दौरान यह हमला करवानेवालों को भारत माफ नही करेगा, यह कहकर इसके आगे भी आतंकियों पर एवं उनके समर्थकों पर भारत हमले करेगा| यह कार्रवाई करने के लिए जरूरी मजबूत नेतृत्व देश में है, इस ओर डोवल इन्होंने ध्यान आकर्षित किया| इस दौरान, ‘सीआरपीएफ’ यह सक्षम सुरक्षा बल है और ऐसी विश्‍वासार्हता प्राप्त करने के लिए कई वर्ष लगातार कष्ट उठाने पडते है, यह कहकर डोवल इन्होंने ‘सीआरपीएफ’ की प्रशंसा की|

पिछले कुछ दिनों से भारतीय नेताओं से एवं रक्षाबलों के अधिकारी पाकिस्तान को सबक सिखाने की चेतावनी दे रहे है| पुलवामा में हुए हमले के बाद भी पाकिस्तान ने आतंकियों के विरोध में संतोषजनक कार्रवाई नही की है|

उलटा कार्रवाई के नाम पर पाकिस्तान आतंकियों के प्रमुखों कों सुरक्षा दे रहा है, यह बात सामने आ रही है| इस ओर भारत पुरी दुनिया के प्रमुख देशों का ध्यान केंद्रीत कर रहा है और पाकिस्तान आतंकियों पर कार्रवाई करने के लिए गंभीर एवं प्रामाणिक ना होने की बात पर ध्यान आकर्षित कर रहा है| इसी दौरान पाकिस्तान ने यदि आगे भी दहशतगर्दों का समर्थन करना जारी रखा तो भारत दुबारा आतंकियों पर कार्रवाई कर सकता है, यह कडी चेतावनी भारत लगातार दे रहा है|

भारत के इस चेतावनी की वजह से पाकिस्तान फिलहाल भारत और एक हमला करने की प्रतिक्षा कर रहा है और अभी भी पाकिस्तान की सेना, वायुसेना एवं नौसेना ‘हाय अलर्ट’ पर होने की बात स्पष्ट हुई है| इस स्थिति का काफी बडा भार तिजोरी पर पड रहा है, यह चिंता पाकिस्तान के अर्थतज्ञ व्यक्त कर रहे है| लेकिन, देश की तिजोरी खाली हुई तो भी परवाह नही, लेकिन भारत की मांग स्वीकार करके आतंकियों पर कार्रवाई नही करेंगे, यही पाकिस्तान की भूमिका रही है|