पुणे (भाग-३)

पुणे (भाग-३)

खेती के उद्देश्य से बसायी गई इस ‘पुन्नक’ नाम की नगरी का काल के प्रवाह में पुणे शहर में रूपान्तरण हो गया। हिन्दवी स्वराज्य की स्थापना करनेवाले छत्रपति शिवाजी महाराज, अटक नगर से परे ध्वजा लहरानेवाले पेशवा और भारत की स्वतन्त्रता के लिए जंग छेडनेवाले देशभक्त इन्होंने पुणे में एक वैभवशाली और गौरवशाली इतिहास रचा। […]

Read More »

पुणे (भाग-२)

पुणे (भाग-२)

पुणे पर कब़्जा जमाते ही अंग्रे़जों ने अन्य महत्त्वपूर्ण शहरों में जिस तरह से अपनी फौ़जी छावनियों का निर्माण किया, उसी तरह पुणे में भी उन्होंने बहुत बड़ी लष्करी छावनी का निर्माण किया। कारोबार के उद्देश्य का दिखावा करके भारत में घुसे अंग्रे़जों ने दरअसल लगभग सारे भारत में अपनी फौ़जी छावनियों का ही निर्माण […]

Read More »

पुणे (भाग-१)

पुणे (भाग-१)

महाराष्ट्र का ‘पुणे’ यह महत्त्वपूर्ण शहर ‘पुण्यनगरी’, ‘विद्या का नैहर’ इन विशेषणों से विख्यात है। पुणे इस शहर की पहचान जिस तरह विद्या का नैहर इस रूप में है, उसी तरह वह ‘महाराष्ट्र की सांस्कृतिक राजधानी’ के रूप में भी जाना जाता है। फिलहाल हम जिस गणेशोत्सव (बुद्धिदाता गणेशजी का गणपतिउत्सव) को मना रहे हैं, […]

Read More »

कानपुर

कानपुर

गंगा नदी यह पूरे भारत देश के लिए अत्यधिक पवित्र है। इस गंगा नदी के आध्यात्मिक महत्त्व के साथ-साथ ही उसका भूगोलीय दृष्टिकोन से भी महत्त्व है। हिमालय से बहनेवाली इस गंगा नदी ने उसके तीर पर हजारों मानवों के निवास के लिए कईं अनुकूलताओं का निर्माण किया। और इस गंगा नदी के तीर पर […]

Read More »

जयपुर

जयपुर

यह सृष्टि विभिन्न रंगों से सजी हुई है, ईश्वर के द्वारा निर्मित इन रंगों के कारण यह पूरी सृष्टि मनोहारी बनी है| यह सृष्टि और उसमें विद्यमान घटकों के विभिन्न रंग इनके प्रति मनुष्य के मन में बहुत प्राचीन समय से आकर्षण रहा है, इसी आकर्षण के कारण प्राचीन समय में मानव जब चित्र बनाने […]

Read More »

उज्जैन

उज्जैन

हमारे भारतवर्ष में संस्कृति, कला, इतिहास, अध्यात्म आदि कईं क्षेत्रों की श्रेष्ठ परंपरा सदियों से चली आ रही है। प्राचीन काल से हमारा भारत देश ज्ञान, विज्ञान, अध्यात्म इनमें अग्रसर रहा है। भारत की मानवीय संस्कृति के विकास में जितना योगदान विज्ञान का हे, उतना ही अध्यात्म, ज्योतिषशास्त्र, खगोलशास्त्र, गणितशास्त्र, आयुर्वेद जैसे शास्त्रों का भी […]

Read More »

बेंगलूरु

बेंगलूरु

प्रकृति और विज्ञान-तन्त्रज्ञान दोनों ही मानवी जीवन के साथ बड़ी गहराई से जुड़े हुए हैं। मनुष्य का जीवन एवं उसकी प्रगति इन दोनों क्षेत्रों में प्रकृति और विज्ञान-तन्त्रज्ञान इनका बहुमूल्य योगदान है। इसीलिए इन दोनों का समन्वय करना मनुष्य के लिए बहुत जरूरी है। ‘सिलिकॉन व्हॅली ऑफ इंडिया’ और ‘गार्डन सिटी ऑफ इंडिया’ इन दोनों […]

Read More »

कोलकाता

कोलकाता

हिमालयस्थित गंगोत्री में उद्गमित होनेवाली गंगानदी जहॉं सागर में मिलती है, उस पश्चिम बंगाल का एक महानगर है, कोलकाता| पश्चिम बंगाल की राजधानी होनेवाले कोलकाता शहर का इतिहास बड़ा ही रोचक है| महानगर के रूप में विख्यात आज के इस कोलकाता शहर के स्थान पर पुराने जमाने में सूतानाति, कोलिकाता और गोविन्दपुर ये तीन गॉंव […]

Read More »
1 21 22 23