पाकिस्तान आतंकियों पर कर रही कार्यवाही असंतोषजनक – अमरिकी विदेश मंत्रालय की आलोचना

वॉशिंग्टन – आतंकवाद विरोधी युद्ध में पाकिस्तान पर्याप्त कार्रवाई नहीं कर रहा| पाकिस्तान इस अग्रणी पर अधिक कार्यवाही करें, ऐसी अपेक्षा अमरिका के विदेश मंत्रालय के आतंकवाद विरोधी विभाग ने व्यक्त की है| एक समय पर पाकिस्तान ने अलकायदा जैसे आतंकवादी संघटना पर कार्रवाई की थी, वैसी कार्रवाई हक्कानी नेटवर्क एवं लष्कर-ए-तैयबा पर करें, ऐसी अपेक्षा अमरिका ने व्यक्त की है और फिलहाल इस अग्रणी पर पाकिस्तान निराश कर रहा पै, ऐसी टिप्पणी उन्होंने लगाई है|

अमरिका के विदेश मंत्रालय के आतंकवाद विरोधी विभाग के समन्वय नेथन एलेग्जेंडर सैलस ने पाकिस्तान आतंकवादियों पर कठोर कार्रवाई नहीं कर रहा, ऐसा आरोप किया है| अमरिकन कॉंग्रेस के सुनवाई में बोलते हुए सैलस ने एक समय पर पाकिस्तान ने आतंकवादियों के विरोध में अच्छी कार्यवाही की थी, इस की याद दिलाई थी| विशेष रूप से ९/११ आतंकवादी हमले के बाद अमरिका को आतंकवादियों पर कार्रवाई करने के लिए पाकिस्तान ने बहुत बड़ी सहायता की थी| उस समय पाकिस्तान ने अलकायदा को लक्ष्य किया था, वैसी कार्रवाई अब हक्कानी नेटवर्क और लष्कर और अन्य आतंकवादी संगठनों पर करे, ऐसा सैलस ने कहा है|

पाकिस्तान के सर्वोच्च नेतृत्व तक अमरिका की यह मांग पहुंचाई गई है| फिर भी उस पर पाकिस्तान से प्रतिक्रिया नहीं मिल रही है| यह बात भी सैलस ने उस समय कही है| साथ ही बोलते हुए अमरिकन कॉंग्रेस के सदस्य टेड पो ने पाकिस्तान पर कड़े शब्दों में आलोचना की है| आज तक अमरिका से अरबों डॉलर की वित्त सहायता प्राप्त करके पाकिस्तान ने अमरिका से आतंकवादियों पर कार्रवाई करे यह की मांग पाकिस्तान ने मानी नहीं है| यह बात क्रोधित करनेवाली होकर पाकिस्तान की बेपरवाई सहन नहीं हो सकती, ऐसा टेड पो ने कहा है|

अफगानिस्तान जैसे देश में पाकिस्तान की सीमा लांघकर आतंकवादी आते हैं और रक्तपात फैलाकर फिर से पाकिस्तान में निकल जाते हैं| जिसकी वजह से उनपर कार्रवाई करना अत्यंत कठिन हो रहा है| पिछले कुछ वर्षों से यह शुरू है और इसके लिए पाकिस्तान को जिम्मेदार नहीं ठहराया जा रहा, ऐसी शिकायत कॉंग्रेसमन टेड पो ने की है| पाकिस्तान इस तरीके से अमरिका का विश्वासघात कर रहा है, ऐसे में इस देश को अमरिका से किस कारण सहायता की जा रही है, ऐसा प्रश्न टेड पो ने किया है|

दौरान पिछले कुछ महीनों से अमरिका के विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तान के बारे में स्वीकारी हुई कठोर भूमिका का टेड पो ने स्वागत किया है| पाकिस्तान को आतंकवाद विरोधी कार्रवाइ के लिए दिए जानेवाली वित्तीय सहायता रोकने का निर्णय स्वागतार्ह था, ऐसा टेड पो ने कहा है| उस में आनेवाले समय में ट्रम्प प्रशासन से पाकिस्तान के बारे में इससे भी अधिक कठोर उपाय योजना की अपेक्षा होने के संकेत टेड पो ने अपने भाषण में दिये है|