‘आईएस’ के हमले में सीरियन लष्कर के २५ जवान ढेर सीरिया मे ‘आईएस’ के ठिकानों पर इराक के हवाई हमले

तृतीय महायुद्ध, परमाणु सज्ज, रशिया, ब्रिटन, प्रत्युत्तर

बैरूत: आईएस’ के आतंकवादियों ने सीरियन लष्कर पर किए हमले में २५ जवानों की जान गई है।सीरिया के पूर्व में स्थित ‘देर अल-झोर’ प्रान्त के ‘मयादीन’ शहर में आईएस ने यह हमला किया है। इस हमले की वजह से सदर आतंकवादी संगठन सीरिया में फिरसे सक्रिय होने की चिंता सीरिया के मानवाधिकार संगठन ने व्यक्त की है।

पिछले वर्ष अक्टूबर महीने में सीरियन लष्कर ने ‘देर अल-झोर’ प्रान्त के ‘युफ्रेट्स’ नदी के पश्चिमी इलाके पर हमला करके कब्ज़ा किया था। इस इलाके पर नियंत्रण पाने वाले आईएस को भगाने के लिए सीरियन लष्कर ने रशिया के हवाई हमले की सहायता ली थी। इसके बाद सीरियन लष्कर ने इस इलाके में अपना अड्डा बनाया था।

लेकिन बुधवार दोपहर को ‘आईएस’ के आतंकवादियों ने मयादीन पर हमला करके सीरियन लष्कर को लक्ष्य बनाया। इस दौरान सीरियन लष्कर और आतंकवादियों के बीच के हुए संघर्ष में २५ सैनिक और १३ आतंकवादी मारे गए हैं।

‘आईएस’ का हमला हुआ ही नहीं है, ऐसा कहकर सीरियन लष्कर ने इस बारे में खबरों का इन्कार किया है। लेकिन इस ठिकाने से कुछ ही दूरी पर रहने वाले कुर्दवंशियों ने कान सुन्न कर देने वाले विस्फोट की आवाजें सुनी हैं, ऐसा कहकर इस खबर की पुष्टि की है।

‘मयादिन’ में सीरियन लष्कर पर हुए हमले की खबर आ रही है, ऐसे में आईएस के आतंकवादियों ने सीरिया की राजधानी दमास्कस के दक्षिणी इलाके पर भी कब्ज़ा करने की खबर है। सीरियन लष्कर ने इन आतंकवादियों को सदर इलाके का नियंत्रण छोड़ने के लिए दो दिनों का समय दिया। उसके बाद हवाई हमले किए जाएंगे, ऐसा सीरियन लष्कर ने इशारा दिया है।

दौरान, सीरिया की सीमा के पास ‘आईएस’ के आतंकवादियों की गतिविधियाँ बढने के बाद इराक के लड़ाकू विमानों ने सीरिया में घुसकर आतंकवादियों के ठिकानों पर हमले किए हैं।