वर्ष २०१८ में विश्‍व के केंद्रीय बैंको ने की ६५१ टन सोने की खरीद

Third World Warलंदन/मास्को: अंतरराष्ट्रीय अर्थव्यवस्था में हो रही बडी उथल पुथल के चलते विश्‍व के कई केंद्रीय बैंक अमरिकी डॉलर के बदले सोने की खरीद करने पर जोर देते दिखाई दे रहे है| वर्ष २०१८ में विश्‍व के केंद्रीय बैंकों ने कुल ६५१.५ टन सोने की खरीद की है, यह जानकारी ‘वर्ल्ड गोल्ड कौन्सिल’ ने दी है| वर्ष २०१७ के तुलना में एक वर्ष में सोना खरीद की मात्रा में ७४ प्रतिशत बढोतरी दर्ज हुई है और यह १९६७ के बाद अबतक का सबसे अधिक प्रमाण होने की बात कही जा रहीहै|

वर्ष २०१८, विश्‍व, केंद्रीय बैंको, ६५१ टन, सोने, खरीदअंतरराष्ट्रीय स्तर पर सोने के व्यवहार एवं व्यापार का ब्योरा रखनेवाले ‘वर्ल्ड गोल्ड कौन्सिल’ ने वर्ष २०१८ में सोने की मांग और कुल खरीद की जानकारी उपलब्ध कराने वाला अहवाल प्रसिद्ध किया है| इस अहवाल में सोने की मांग बढती दिखाई दे रही है और साथ ही विश्‍व की केंद्रीय बैंकों ने की सोने की खरीदी की ओर इस अहवाल ने ध्यान आकर्षित किया है|

वर्ष २०१८ में विश्‍व भर में हुई सोने की कुल बिक्री में से १५ प्रतिशत सोने की खरीद अलग अलग देशों की केंद्रीय बैंकों ने की है| वर्ष के आखरी तिमाही में कुल १६८ टन सोने की खरीद हुई है और २०१७ के आखरी तिमाही की तुलना में सोने की खरीद में कुल १२६ प्रतिशत बढोतरी दर्ज हुई है|

सोने की सबसे अधिक खरीद करनेवाली केंद्रीय बैंकों में रशिया, तुर्की, कजाकस्तान और भारतीय बैंक का समावेश है| रशिया की केंद्रीय बैंक ने वर्ष २०१८ में कुल २७४ टन सोना खरीदा है| तुर्की की केंद्रीय बैंक ने ५१.५ टन, कजाकस्तान की केंद्रीय बैंक ने ५० टन सोने की खरीद की| इस दौरान भारत की केंद्रीय ‘रिजर्व्ह बैंक ऑफ इंडिया’ ने इस दौरान ४० टन सोना खरीद करके अपने सोने का भंडार ५९८ टन तक बढाया है|

रशिया एवं चीन पिछले कुछ वर्षों से अपने सोने के भंडार में बडी मात्रा में बढोतरी कर रहा है और इसके पिछे अमरिका एवं अमरिकी डॉलर्स के प्रभुत्व को चुनौती देने की योजना होने की बात कही जा रही है| रशिया ने अपने सोने के भंडार हालही में दो हजार टन तक बढाया है, यह वृत्त सामने आया था| चीन अपने सोने का भंडार दो हजार टन से कम होने की बात कह रहा है, फिर भी विश्‍व भर के कई विश्‍लेषकों ने चीन के भंडार में कम से कम २० हजार टन सोना रहेगा, यह दावा किया है|