स्विट्जरलैंड में कुछ मस्जिदों का तुर्की और ‘आईएस’ से संबंध – स्विस पत्रकार का आरोप

तृतीय महायुद्ध, परमाणु सज्ज, रशिया, ब्रिटन, प्रत्युत्तर

बर्न – स्विट्जरलैंड में तुर्की के सरकार से जुडे संगठनों द्वारा चलाई जा रही मस्जिदों में ‘आईएस’ यह आतंकी संगठन प्रशिक्षण दे रही है, यह चौकानेवाला दावा स्विस पत्रकार ने किया है| ‘कर्ट पेल्डा’ इस स्विस पत्रकार ने इराम में सजा सुनाई गई एक ‘आईएस’ के आतंकी का जिक्र करके यह आरोप किया| २४ वर्ष का यह आतंकी स्विस नागरिक है और उसने स्विट्जरलैंड के एक मस्जिद में उसे चरमपंथी बनाया गया है, इस बात का स्वीकार किया है|

स्विट्जरलैंड में लगभग ४ लाख से भी अधिक इस्लामधर्मी रह रहे है और इस देश की कुल जनसंख्या की तुलना में इनकी तादात ५ प्रतिशत से भी अधिक है| देश के कई हिस्सों में मस्जिदों का निर्माण किया गया है और उसमें तुर्की के सत्तारूढ हुकूमत का हिस्सा रहे ‘तुर्कीश रिलिजिअस अफेअर्स फाऊंडेशन’ इस संगठन का बडी मात्रा में योगदान है|

स्विस पत्रकार ने अपने लेख में ‘रॉर्सकॅक’ क्षेत्र की मस्जिद का जिक्र किया है और इस मस्जिद का निर्माण तुर्की ने ही किया था| ‘आईएस’ में शामिल होकर आतंकी बना स्विस युवक ‘आर्बन’ शहरी युवा है और इस मस्जिद में हमेशा जाता रहा है| ‘आईएस’ में शामिल होने के लिए और साथ ही सीरिया में प्रवेश करने के लिए उसे तुर्की के कुछ लोगों ने सहायता की थी, यह जानकारी इस आतंकी ने अपने जबानी में कही है| स्विट्जरलैंड की मस्जिद में चरमपंथी सिख प्राप्त की थी, यह जानकारी इस आतंकी ने दी|

पिछले कुछ वर्षों में तुर्की के राष्ट्राध्यक्ष रेसेप एर्दोगन पश्‍चिमी देशों में इस्लाम फैलाने के लिए कोशिश कर रहे है, यह उजागर हुआ है| पिछले वर्ष प्रसिद्ध हुए एक रपट में एर्दोगन इन्होंने युरोप में बाल्कन देशों में धार्मिक पाठशालाओं का इस्तेमाल करके कट्टरवाद फैलाना शुरू किया था, यह आरोप अमरिकी वेबसाइट ने किया था| उसके पहले युरोपीय देशों के साथ अमरिका में भी तुर्की सरकार का हिस्सा रहे उपक्रम मस्जिदों का निर्माण और अन्य कार्यक्रमों में इस्लाम का जोरों से प्रसार करते दिखाई दिए है|

जर्मनी, नेदरलैंड, ऑस्ट्रिया इन देशों ने तुर्की की यह गतिविधियां रोकने के लिए कानूनी कार्रवाई शुरू की है और उन्होंने एर्दोगन इन्हें चेतावनी भी देने की बात सामने आई थी|