अमरिका ने लगाए प्रतिबंधों के खिलाफ एकजुट होने का तुर्की का आवाहन

तृतीय महायुद्ध, परमाणु सज्ज, रशिया, ब्रिटन, प्रत्युत्तर

अंकारा – अमरिका के राष्ट्राध्यक्ष डोनाल्ड ट्रम्प प्रतिबंधों का और करों का इस्तेमाल अन्य देशों की अर्थव्यवस्था को उध्वस्त करने के लिए कर रहे हैं, ऐसा आरोप करके तुर्की ने अन्य देशों को इसके खिलाफ एकजुट होने का आवाहन किया है। तुर्की के वित्तमंत्री बेरात अल्बेरक ने एक वेबसाइट पर लिखे एक लेख में यह आवाहन किया है। अमरिका ने पिछले कुछ महीनों में तुर्की पर लगाए आयात कर और प्रतिबंधों की वजह से मुद्रा लिरा में लगभग ५० प्रतिशत से अधिक गिरावट हुई है और अर्थव्यवस्था को जबरदस्त झटका लगा है।

सन २०१६ में तुर्की में राष्ट्राध्यक्ष एर्दोगन राजवट के खिलाफ लश्कर के कुछ वरिष्ठ अधिकारियों ने बगावत की असफल कोशिश की थी। उसमें शामिल और संलग्न होने का आरोप करके एरदोगन राजवट ने १० हजार से अधिक लोगों की गिरफ़्तारी के आदेश दिए थे। उसमें तुर्की में २० सालों से अधिक समय तक वास्तव्य कर रहे ख्रिस्त धर्मी धर्मोपदेशक ‘पास्टर एंड्रयू ब्रुन्सन’ का समावेश था। ब्रुन्सन की गिरफ़्तारी अवैध होने का दावा अमरिका ने किया है और उनकी रिहाई की माँग की थी।

तुर्की का आवाहन, प्रतिबन्ध, एर्दोगन, अर्थव्यवस्था, एकजुट, अमरिका, फॉरेन पॉलिसी

अमरिका की माँग को मान्य करके ब्रुन्सन को रिहा नहीं किया, तो तुर्की पर व्यापक आर्थिक प्रतिबन्ध लगाने की चेतावनी ट्रम्प ने दी थी। तुर्की ने ब्रुन्सन को रिहा करने से इन्कार करने की वजह से ट्रम्प ने तुर्की पर प्रतिबन्ध लगाना शुरू किया था। इन प्रतिबंधों की वजह से तुर्की की अर्थव्यवस्था पर तनाव बढ़ गया है और तुर्की की मुद्रा लिरा की गिरावट शुरू हुई है। इस वजह से भडकी महंगाई ने तुर्की की जनता हैरान हुई है, ऐसे में एर्दोगन ने अमरिका के खिलाफ आक्रामक भूमिका ली है।

पिछले महीने में ही एर्दोगन ने, अमरिका ने की प्रतिबंधों की घोषणा यह तुर्की का अपमान साबित होता है, ऐसी चेतावनी देकर अमरिका के अधिकारियों के खिलाफ प्रतिबंधों की घोषणा की थी। उसके बाद भी अमरिका के प्रतिबन्ध यह तुर्की और तुर्की की जनता पर हमला है, ऐसा कहकर अपनी कार्रवाई का लगातार समर्थन किया है। इसी पृष्ठभूमि पर, तुर्की के अर्थमंत्री ने किया हुआ आवाहन ध्यान आकर्षित करता है।

‘अमरिका ने खुद के हितसंबंधों के लिए अन्य देशों पर लगाए प्रतिबंधों के खिलाफ यह देश एकजुट होकर सहकार्य की भूमिका अपनाना उचित होगा। तुर्की के साथ एकजुट होकर यह देश भावुष्य के संकटों का सामना करने के लिए उचित नीति बना सकते हैं’, ऐसा तुर्की के वित्तमंत्री बेरात अल्बेरक ने ‘फॉरेन पॉलिसी’ इस वेबसाइट पर लिखे लेख में कहा है।