इस्लामी दुनिया के लिए जेरूसलेम पैलेस्टाइन की ही राजधानी होगी – तुर्की के राष्ट्राध्यक्ष रेसेप एर्दोगन की चेतावनी

तृतीय महायुद्ध, परमाणु सज्ज, रशिया, ब्रिटन, प्रत्युत्तर

लंदन – अमरिका से इस्राइल के जेरूसलेम शहर में दूतावास शुरू करने से पहले ही खाड़ी क्षेत्र से कड़ी प्रतिक्रिया उमड़ने शुरू हुई है। पैलेस्टाईन के मुद्दे पर लगातार आक्रामक भूमिका लेनेवाले तुर्की के राष्ट्राध्यक्ष रेसेप एर्दोगन ने इस्राइल एवं अमरिका को फिर एक बार लक्ष्य करते हुए जेरूसलेम का स्थान इस्लामी दुनिया में पैलेस्टाईन की राजधानी के तौर पर कायम रहेगा, ऐसा स्पष्ट सूचित किया है। सोमवार को पैलेस्टाईन से होनेवाले प्रदर्शन के बारे में इस्राइल संयम रखें ऐसा आवाहन करते हुए इतिहास पैलेस्टाईन पर हुआ अन्याय नहीं भूलेगा, ऐसी चेतावनी भी उन्होंने दी है।

अमरिका के राष्ट्राध्यक्ष डोनाल्ड ट्रम्प ने जेरूसलेम में दूतावास स्थानांतरित करने का निर्णय घोषित करने के बाद तुर्की राष्ट्राध्यक्ष ने उसपर आक्रामक भूमिका ली थी। इस मुद्दे पर खाड़ी देशों की बैठक आयोजित करके अमरिका एवं इस्राइल का एकत्रितरूप से निषेध करने के लिए एर्दोगन ने पहल की थी। उसके बाद एर्दोगन ने लगातार जेरूसलेम में दूतावास एवं इस्राइल पैलेस्टाईन में कर रही गतिविधियों को लेकर दोनों देशों को लक्ष्य किया था।

सोमवार को जेरूसलेम में अमरिका के दूतावास का उद्घाटन होते समय एर्दोगान ने फिर एक बार अमरिका और इस्राइल इन दोनों पर आलोचना की है। जेरुसेलम का निर्णय लेकर अमरिका ने न्याय एवं हक को पैरों तले कुचला है। यह करते हुए अंतरराष्ट्रीय समुदाय को नजरअंदाज किया है। अनेक दशकों से पुराना संघर्ष सुलझाने के लिए शुरू होने वाले प्रयत्नों को ठुकराते हुए इस्राइल सरकार को बड़ा पुरस्कार दिया है। उस समय पैलेस्टाईन को अच्छी शिक्षा दी है। इतिहास एवं मानवता पैलेस्टिनी बंधुओं पर हुए इस अन्याय के बारे में कभी भी क्षमा नहीं करेगा, ऐसे शब्दों में तुर्की राष्ट्राध्यक्ष ने अमरिका को कड़े बोल सुनाए हैं।

जेरूसलेम के बारे में तुर्की की भूमिका स्पष्ट करते हुए एर्दोगन ने आक्रामक विधान किए हैं। जेरूसलेम उसमें भी पूर्व जेरूसलेम यह पैलेस्टाईन की राजधानी है। इस्लामी दुनिया ने यह बात स्वीकारी है, ऐसा एर्दोगन ने कहा है। सोमवार को जेरूसलेम में दूतावास के मुद्दे पर होनेवाले प्रदर्शन के दौरान इस्राइल जिम्मेदारी से बर्ताव एवं संयम रखे और किसी की जान जाने न दे, इस पर ध्यान दें ऐसा तुर्की के राष्ट्राध्यक्ष ने सूचित किया है।

तुर्की के बाद रशिया एवं अरब लीग ने भी जेरूसलेम में दूतावास के मुद्दे पर आग्रही भूमिका ली है। अमरिका के निर्णयों की वजह से गाजा के संघर्ष का भड़का हो सकता है और पैलेस्टाईन एवं इस्राइल में बड़ी तादाद में मुठभेड़ होगी, ऐसी चेतावनी रशिया के उपविदेश मंत्री मिखाईल बोगदानोंव्ह ने दी है। अमरिका के राष्ट्राध्यक्ष ने लिया यह निर्णय अदूरदर्शी होने की आलोचना रशियन उप विदेश मंत्री ने की है।

दौरान अरब देशों की प्रमुख संघटना होनेवाले अरब लीग ने जेरूसलेम में अमेरिकी दूतावास के मुद्दे पर चर्चा करने के लिए बुधवार को विशेष बैठक का आयोजन करने की घोषणा की है।

युरोपीय देश बहुत ही भारी मात्रा में निर्वासितों का स्वीकार कर रहे हैं
लेबेनॉन और सीरियन सेना की मदद से सीरियन सीमा पर हिजबुल्लाह की ‘आयएस’ विरोधी मुहीम
सऊदी अरेबिया का सत्ता संघर्ष तीव्र
इस्रायल के सिरियन राजधानी मे हवाई हमले, ईरान का लश्करी तल तबाह १२ इरानी सैनिक ढेर
पाकिस्तान ने अगर आतंकियों पर कारवाई टाली अमरिका पाकिस्तान मे एकतरफ़ा कारवाई करेगा- पेंटागौन का इशारा
कॅलिनिनग्रॅड के रशियन परमाणू आधे यूरोप को लक्ष्य करेंगे- लिथुआनिया के राष्ट्राध्यक्ष का इशारा
अमरिका पाकिस्तान की बदनामी कर रहा है - पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के सलाहकारों का आरोप
रशिया के साथ पूर्व यूरोपीय देशों में केसरिया हिम वर्षाव - तज्ञो से रासायनिक युद्ध की आशंका का दावा

Leave a Reply

Your email address will not be published.