इस्रायली लडाकू विमानों से सीरिया पर मिसाइल हमले – यह हमले विफल करने का सीरिया ने किया दावा

Third World Warदमास्कस/जेरुसलेम: इस्रायल के लडाकू विमानों ने शुक्रवार रोत सीरिया की राजधानी दमास्कस के हवाई अड्डे के निकट जोरदार मिसाइल हमले किए| इस्रायल के इन हमलों में ईरानी सेना और हिजबुल्लाह के जगहों को लक्ष्य किया गया, यह दावा किया जा रहा है| साथ ही अपनी हवाई सुरक्षा यंत्रणा इस्रायल के मिसाइल मार गिराने में सफल हुई, यह दावा सीरियन वृत्तसंस्था ने किया है| सिर्फ १५ दिनों में इस्रायल ने दमास्कस पर यह दुसरी बार हवाई हमले किए है|

शुक्रवार रात लगभग साडे ग्यारह बजे इस्रायल के लडाकू विमानों ने दमास्कस हवाई अड्डे के निकट हमले करना शुरू किया| इस दौरान हवाई अड्डे के निकट दो जगहों को लक्ष्य किया गया| इस में ईरानी सेना और हिजबुल्लाह इस्तेमाल कर रहे भांडार का समावेश हा, यह जानकारी सीरिया की स्वयंसेवी संगठन ने दी है| ईरान और हिजबुल्ला की गतिविधियों को लक्ष्य करने के लिए ही यह कार्रवाई की गई, यह इस्रायली सूत्रों ने भी स्वीकारा है|

इस्रायली, लडाकू विमानों, सीरिया, मिसाइल हमले, विफल, करने, दावालेकिन सीरियन वृत्तसंस्था ने इस्रायल के? इन मिसाइल हमलों में नुकसान होने की बात ठुकराई है| बल्कि, इस्रायल के हवाई हमले शुरू होते ही सीरियन हवाई सुरक्षा यंत्रणा सक्रिय हुई और इस यंत्रणा ने इस्रायल के हमले विफल किए, यह दावा किया जा रहा है| सीरियन वृत्तसंस्था के इस दावे को समर्थन प्राप्त नही हुआ है| इसके पहले भी इस्रायल ने किए हमलों के दरमियान सीरियन हवाई सुरक्षा यंत्रणा ने प्रत्युत्तर देने के दावे किए गए थे|

अमरिकी सेना की सीरिया से वापसी शुरू होने का समाचार सामने आया है, तभी इस्रायल ने यह मिसाइल हमला करना ध्यान आकर्षित करनेवाला साबित हो रहा है| इस हमले से अमरिकी सेना की सीरिया से वापसी होने पर भी अपनी कार्रवाई में बदलाव नही होगा, यही इस्रायल ने दुबारा दिखाया है| अमरिकी सेना की वापसी का इस्रायल की कार्रवाई पर असर नही होगा, यह इस्रायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेत्यान्याहू इन्होंने इससे पहले ही स्पष्ट किया था|

सीरिया संबंधी इस्रायल ने इससे पहले ही मर्यादा रेखा (रेड लाईन) का ऐलान किया है| इस्रायल आज भी सीरिया और पडोसी देशों से संबंधी अपनी ‘रेड लाईन’ पर कायम है और जो भी कोई यह रेखा लांघने की कोशिश करेगा उसे सीरिया में किए हवाई हमलों के जैसा ही प्रत्युत्तर प्राप्त होगा, यह चेतावनी इस्रायल के प्रधानमंत्री नेत्यान्याहू इन्होंने पिछले वर्ष के आखरी दौर में दिया था|