ईरान पर अमरिका के नए प्रतिबंध

Third World Warवॉशिंगटन: अमरिका के विदेश एवं कोषागार विभाग ने शुक्रवार को ईरान के विरोध में नए प्रतिबंध जारी करने की घोषणा की है| इनमें ईरान के १४ नागरिक एवं १७ कंपनियों को लक्ष्य किया गया है| नए प्रतिबंध जारी करने की घोषणा करते हुए अमरिका के विदेश मंत्री माईक पोम्पिओ ने इससे पहले जारी किए प्रतिबंध सफल होने का दावा किया है| दो हफ्तों पहले अमरिका ने संयुक्त राष्ट्रसंघ की सुरक्षा समिति के पास ईरान पर कठोर आर्थिक प्रतिबंध जारी करने की मांग की थी|

ईरान द्वारा लगातार अंतरराष्ट्रीय प्रतिबंधों का उल्लंघन करने का आरोप अमरिका, इस्रायल तथा सौदी अरब एवं मित्र देश कर रहे हैं| ईरान परमाणु शस्त्र निर्माण के पास पहुंचने का आरोप भी अमरिका एवं इस्रायल कर रहा है| पर संयुक्त राष्ट्रसंघ तथा ब्रिटेन जर्मनी और फ्रान्स इन यूरोपिय देशोंने, अमरिका के मित्र देश होते हुए भी ईरान के परमाणु कार्यक्रम का समर्थन किया है| पिछले वर्ष अमरिका के राष्ट्राध्यक्ष डोनाल्ड ट्रम्प ने ईरान के साथ परमाणु करार से वापसी की थी| फिर भी ब्रिटेन, जर्मनी और फ्रान्स इस परमाणु करार पर कायम है|

ईरान, अमरिका, नए प्रतिबंध, घोषणा, माईक पोम्पिओ, संयुक्त राष्ट्रसंघदौरान पिछले वर्ष अमरिका ने ईरान पर तीन स्तर में कठोर आर्थिक प्रतिबंध जारी किए थे| अमरिका के इन प्रतिबंधों से ईरान की रिहाई करने के लिए ब्रिटेन, जर्मनी और फ्रान्स इन देशों के पास सहायता की मांग की गई थी| इन तीनों देशों ने अमरिका के विरोध में जाकर विकल्प के तौर पर इंस्टेक्स इस चलन यंत्रणा का निर्माण किया है और इस यंत्रणा की वजह से ईरान पर बना आर्थिक संकट दूर होगा, ऐसा दावा किया जा रहा है|

साथ ही यूरोपिय देशों को नजरअंदाज करके अमरिका ने ईरान पर नए कठोर प्रतिबंध जारी करने की तैयारी शुरु की थी| शुक्रवार की घोषणा उसी का भाग होकर ईरान के रक्षा विभाग के साथ प्रौद्योगिकी और संशोधन क्षेत्र को लक्ष्य किया गया है| साथ ही ईरान के परमाणु कार्यक्रम से तथा मिसाइल निर्माण कार्यक्रम से संबंधित कई संशोधकों का समावेश इन प्रतिबंधों में है| ऑर्गनाइजेशन ऑफ डिफेंसिव इन्नोवेशन ऍण्ड रिसर्च के लिए (एसपीएनडी) काम करनेवाले शाहिद करीमी ग्रुप के साथ शाहिद चामरान ग्रुप पर कार्रवाई करने की जानकारी अमरिका के कोषागार विभाग ने दी है|

इससे पहले वर्ष २०१४ में अमरिका ने एसपीएनडी पर प्रतिबंध जारी किए थे| ईरान से चलाए जानेवाले परमाणु कार्यक्रम से इस संगठन का निकटतम संबंध होकर, इस माध्यम से ईरान परमाणु तकनीक एवं इससे संबंधित घटक कब्जे में रखने का प्रयत्न कर रहा है, यह दावा अमरिका कर रही है|