इजराइल पर हमलों के लिए ईरान को सीरिया और लेबेनॉन का इस्तेमाल करने नहीं देंगे – इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेत्यान्याहू की चेतावनी

तृतीय महायुद्ध, परमाणु सज्ज, रशिया, ब्रिटन, प्रत्युत्तर

जेरुसलेम – ‘इजराइल आत्मरक्षा के लिए कोई भी निख का कदम उठाने के लिए तैयार है।इजराइल पर हमले करने के लिए ईरान की तरफ से सीरिया और लेबेनॉन का इस्तेमाल होने की संभावना है और ईरान की यह कोशिश कभी सफल होने नहीं दूंगा’, इन शब्दों में इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेत्यान्याहू ने ईरान को नई चेतावनी दी है।इस बार उन्होंने अंतररष्ट्रीय समुदाय ने  ईरान को सीरिया से बाहर निकालने के लिए कोशिश करे, ऐसा आवाहन भी किया है।

जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल इजराइल के दौरे पर हैं और उनके साथ हुई पत्रकार परिषद में नेत्यान्याहू ने ईरान पर फिर एक बार निशाना साधा है। ‘दुनिया के सभी देश ईरान की लष्करी कार्रवाइयां और परमाणु कार्यक्रम पूरी तरह से रोकने के लिए एक होने चाहिए। यूरोप और दुनिया के विविध इलाकों में चल रही ईरान की आतंकवादी कार्रवाइयां रुकनी चाहिए। सीरिया से ईरान का लष्कर बाहर निकलना आवश्यक है’, ऐसी नेत्यान्याहू ने चेतावनी दी है।

सीरिया और लेबेनॉन, इस्तेमाल, बेंजामिन नेत्यान्याहू, ईरान, लष्करी कार्रवाइयां, Israel, एंजेला मर्केल

नेत्यान्याहू की इस भूमिका की चांसलर मर्केल ने पुष्टि की है। ‘गोलान पहाड़ियों के इलाके में इजराइली सीमा के पास ईरान का अस्तित्व नहीं हो सकता। इस मुद्दे पर इजराइल के साथ साथ रशियन राष्ट्राध्यक्ष व्लादिमीर पुतिन के साथ भी चर्चा हुई है।ईरान के लष्कर को सीरिया से वापस जाना ही पड़ेगा’, इन शब्दों में मर्केल ने इजराइल की भूमिका का समर्थन किया है।उसी समय ईरान परमाणु से सज्ज नहीं हो यह इजराइल की भूमिका भी मान्य है, ऐसा मर्केल ने कहा है।

इजराइल पिछले दो सालों से सीरिया में स्थित ईरान के अड्डों पर हमले कर रहा है और अब तक २०० से अधिक हमले करने की जानकारी इजराइली सूत्रों ने दी है।