नशेली पदार्थों के विरोधी अंतरराष्ट्रीय मुहीम में ९४ टन से अधिक कोकेन बरामद – कोलंबिया के राष्ट्राध्यक्ष इवान ड्यूक

Third World Warबोगोटा: अमरिका के साथ यूरोप और लैटिन अमरिकी देशों ने की बडी कार्रवाई में १२० टन से अधिक मात्रा में नशेली पदार्थ बरामद किए गए है| इसमें ९४ टन से अधिक कोकेन और २६ टन ‘मारिजुआना’ का समावेश है| अंतरराष्ट्रीय बाजार में इन नशेली पदार्थों की किमत तीन अरब डॉलर्स से भी अधिक होने की जानकारी कोलंबिया के राष्ट्राध्यक्ष इवान ड्यूक इन्होंने दी| पिछले चार महीनों में नशेली पदार्थों के विरोध में जागतिक स्तर पर मुहीम शुरू की गई है| अब तक की गई इस तरह की यह तिसरी बडी कार्रवाई होने की बात मानी जा रही है|

अमरिका के राष्ट्राध्यक्ष डोनाल्ड ट्रम्प इन्होंने सत्ता संभालने के बाद नशेली पदार्थों के व्यापार के विरोध में आक्रामक भूमिका अपनाई थी| पिछले वर्ष सितंबर महीने में संयुक्त राष्ट्रसंघ की आम सभा के पहले ट्रम्प ने इस मुद्दे पर अंतरराष्ट्रीय समुदाय को निवेदन किया था| ‘नशेली पदार्थों का व्यापार संगठित अपराध, ब्लैक मनी, भ्रष्टाचार और आतंकवाद से जुडा है| सार्वजनिक स्वास्थ्य और राष्ट्रीय सुरक्षा को नशेली पदार्थों के व्यापार से काफी बडा खतरा बनता है| इसीलिए नशेली पदार्थों के व्यापार के विरोध में दुनियाभर में सभी देश एकता दिखाए’, ऐसा अमरिकी राष्ट्राध्यक्ष ने कहा था|

नशेली पदार्थों, विरोधी, अंतरराष्ट्रीय मुहीम, ९४ टन, अधिक, कोकेन, बरामद, कोलंबिया, राष्ट्राध्यक्ष, इवान ड्यूकउसके बाद अंतरराष्ट्रीय स्तर पर हुई बडी कार्रवाईयां ध्यान आकर्षित कर रही है| जनवरी महीने में इटली के जिनोआ बंदरगाह में करीबन दो टन से अधिक कोकेन बरामद की गई थी| यह कोकेन लैटिन अमरिका के कोलंबिया से इटली में पहुंचने की बात उजागर हुई थी| ५० करोड यूरो किमत की इस तस्करी के पीछे कोलंबिया में ‘गल्फ क्लैन’ के नाम से पहचाने जा रहे अपराधियों का गुट होने की बात स्पष्ट हुई थी| इसी बीच अमरिका में ट्रम्प प्रशासन ने नशेली पदार्थों के व्यापार के विरोध में की जा रही कार्रवाई काफी अहम समझी जाती है|

अमरिका में नशेली पदार्थों का व्यापार और अन्य गंभीर अपराधों में शामिल ‘एमएस-१३’ इस गुट पर ट्रम्प प्रशासन ने कडी कार्रवाई शुरू की है| साथ ही अन्य देशों में ‘एमएस-१३’ के ठिकानों को लक्ष्य करने के लिए ट्रम्प प्रशासन ने दबाव बनाने की बात सामने आयी थी| इस कार्रवाई को अमरिका के कुछ सियासी नेताओं ने विरोध जताया था| इस वजह से इस निर्णय को सियासी पृष्ठभूमि है और नशेली पदार्थों का व्यापार और सियासी नेताओं के हितसंबंधों का प्रश्‍न भी उजागर हुआ था|

पिछले महीने में, अमरिका के न्यूयॉर्क शहर में नशेली पदार्थों की तस्करी के विरोध में की गई सबसे बडी कार्रवाई में करीबन डेढ टन से अधिक कोकेन बरामद की गई थी| अंतरराष्ट्रीय बाजार में इस कोकेन की किमत करीबन १३ करोड डॉलर्स से भी अधिक होने की बात कही जा रही थी| ब्रिटेन की ‘नैशनल क्राईम एजन्सी’ ने उपलब्ध कराई जानकारी के आधार पर यह कार्रवाई की गई थी|

इसके पहले फिलिपिन्स, इंडोनेशिया, बांगलादेश इन जैसे देशों में भी नशेली पदार्थों के विरोध में आक्रामक मुहीम शुरू की थी| फिलिपिन्स के राष्ट्राध्यक्ष रॉड्रिगो दुअर्ते इन्होंने शुरू किया ‘वॉर ऑन ड्रग्ज’ दुनियाभर में आलोचना एवं बातचीत का विषय साबित हुआ है| इसी बीच अमरिका के राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प इनके आदेश के नुसार अफगानिस्तान में तालिबान के विरोध में की कार्रवाई में अफू की खेती और नशेली पदार्थों के बडे कारखाने ध्वस्त करने की जानकारी सामने आयी थी|

दुनिया में कई हिस्सों में नशेली पदार्थों के व्यापार के विरोध में शुरू मुहीम को ट्रम्प ने दिया समर्थन काफी अहम है| कुछ ‘कॉन्स्पिरसी थिएरिस्ट’ नशेली पदार्थों के व्यापार पर कार्रवाई करके अमरिका के राष्ट्राध्यक्ष ‘डीप स्टेट’ को झटका दे रहे है, यह दावा कर रहे है|