पनामा के साथ ‘बेल्ट एण्ड रोड’ समझौता करके चीन का अमरिका को झटका

Third World Warपनामा सिटी: चीन के राष्ट्राध्यक्ष शी जिनपिंग इन्होंने मध्य अमरिका के ‘पनामा’ के साथ ‘बेल्ट एण्ड रोड इनिशिएटिव्ह’ समझौता किया है| यह करार यानी अमरिका के लिये चेतावनी है, यह जाना जा रहा है| विश्‍व के अन्य हिस्सों में चीन की महत्वाकांक्षी ‘बेल्ट एण्ड रोड’ परियोजना को झटके मिल रहे है| ऐसे में अमरिका के प्रभाव क्षेत्र में आने वाले देश ने यह समझौता करना ध्यान आकर्षित करने वाला है| जिनपिंग इनकी यात्रा की पृष्ठभुमि पर पनामा सरकारने १.४ अरब डॉलर्स का ‘ब्रिज प्रोजेक्ट’ चीन की कंपनी को दिया है|

राष्ट्राध्यक्ष शी जिनपिंग इनकी महत्वाकांक्षी योजना के तौर पर जाने जा रही ‘बेल्ट एण्ड रोड इनिशिएटिव्ह’ परियोजना पिछले दो वर्षों से काफी समस्या से घिरी है| अफ्रीका और युरोप के देशों के साथ ही चीन के पडोसी एशियाई देशों ने भी ‘बेल्ट एण्ड रोड इनिशिएटिव्ह’ से जुडे प्रकल्प या तो स्थगित किये है या रद्द करना शुरू किया है| इस वजह से चीन को तगडा झटका मिला है और चीन नये भागीदार देश खोजने की कोशिष कर रहा है| लैटिन अमरिका के पनामा जैसे देश को राष्ट्राध्यक्ष जिनपिंग इन्होंने दी भेंट इन्ही कोशिषों का हिस्सा माना जाता है|

पनामा, बेल्ट एण्ड रोड, समझौता, करके, चीन, अमरिका, झटकाविश्‍व के प्रमुख व्यापारी यातायात के मार्ग के तौर पर पहचाने जा रहे ‘पनामा नहर’ के लिये पनामा प्रसिद्ध है| विश्‍व की सागरी मार्ग से हो रहे व्यापार का ५ फिसदी से अधिक व्यापार केवल पनामा कनाल से हो रहा है| कुछ वर्ष पहले अमरिका के साथ मुक्त व्यापार करार करने वाला पनामा अमरिका के प्रभाव क्षेत्र का हिस्सा माना जाता है| अमरिका और पनामा के बीच शुरू द्विपक्षीय व्यापार लगभग १० अरब डॉलर्स से अधिक है| अमरिका का सहयोगी देश के तौर पर पहचाना जा रहे पनामा ने पिछले वर्ष तक तैवान के साथ राजनीतिक संबंध ही रखे थे|

लेकिन जून २०१७ में पनामा ने तैवान के बने राजनीतिक संबंध तोडे और चीन के साथ राजनीतिक संबंध बनाये थे| इसके बाद केवल डेढ साल में राष्ट्राध्यक्ष जिनपिंग इन्होंने इस देश की यात्रा करना अहम माना जाता है| केवल डेढ साल में ही चीन और पनामा के द्विपक्षीय संबंध दृढ होने की शुरूआत हुई है| दोनों देश जल्द ही एकदुसरे को लाभ देनेवाले भागीदार साबित होंगे, चीन के राष्ट्राध्यक्ष शी जिनपिंग इनके यह शब्द पनामा का महत्त्व रेखांकित करते है|

भौगोलिक दृष्टि से अमरिका और लैटिन अमरिका के बीचों बीच रहने वाला और अटलांटिक एवं पैसिफिक महासागर को जोड रहे पनामा में चीन ने किया प्रवेश सामरिक दृष्टी से ध्यान आकर्षित करनेवाला साबित होता है| चीन के राष्ट्राध्यक्ष की इस भेंट में ‘बेल्ट एण्ड रोड इनिशिएटिव्ह’ के साथ ही दोनों देशों में लगभग १९ समझौतों पर स्वाक्षरी हुई| इसमें पनामा को अर्थ सहाय्य करने के साथ ही व्यापार, पायाभूत सुविधा, बैंकिंग क्षेत्र से जुडे समझौतों का समावेश है|

राष्ट्राध्यक्ष जिनपिंग इनकी यात्रा के बाद २४ घंटों में ही पनामा सरकारने चीन की कंपनी को १.४ अरब डॉलर्स का कंत्राट दिया है| पनामा में अब तक शुरू हुए प्रकल्पों में से यह सबसे महंगा प्रकल्प है| पनामा नहर पर बनाया जा रहा पूल, ऐसा इस प्रकल्प का स्वरूप है और इस काम का ठेका देते समय अन्य कंपनीयों को नजरअंदाज किया गया है, यह भी सामने आ रहा है|