अमरिका एवं पाकिस्तान की मित्रता खत्म- पाकिस्तान के विदेश मंत्री ख्वाजा असिफ

इस्लामाबाद: अमरिका ने पाकिस्तान को दिए जाने वाले लगभग दो अब्ज डॉलर्स की सहायता रोकने के बाद पाकिस्तान हडबडाया है। पाकिस्तान से आने वाली प्रतिक्रिया में भी यह हड़बड़ाहट दिखाई दे रही है। अमरिका ने पाकिस्तान की अर्थसहाय्यता रोकने के समय अमरिका एवं पाकिस्तान की दोस्ती खत्म हो गई है। अमरिका ने पाकिस्तान को हमेशा धोखा दिया है और आगे चलकर अमरिका के लिए पाकिस्तान कोई भी त्याग नहीं करेगा, ऐसा इशारा पाकिस्तान के विदेशमंत्री ख्वाजा असिफ ने दिया है। पर उस समय पाकिस्तान के विदेश सचिव तहमीना जंजुआ ने अपनी अलग भूमिका प्रस्तुत की है। अमरिका से मिलने वाले धमकियों के बाद भी पाकिस्तान अमरिका के साथ चर्चा करता रहेगा। अमरिका केवल जागतिक महासत्ता ना होकर इस क्षेत्र में अमरिका प्रबल अस्तित्व है, ऐसा जंजुआ ने कहा है।

दोस्ती खत्म

पाकिस्तान सभी आतंकवादियों पर कारवाई करें, ऐसी अमरिका से लगातार सूचित किया जा रहा था। पर उसके लिए पाकिस्तान लगातार बात टाल रहा है और इसलिए अमरिका ने पिछले ४ दिनों से पाकिस्तान को झटके देने वाले निर्णय लिया है। आतंकवाद विरोधी युद्ध में पाकिस्तान कर रहे सहायता के बारे में अमरिका द्वारा पाकिस्तान को दी जाने वाली आर्थिक मदद रोकी गई है। उसके बाद डेड अब्ज डॉलर्स की लष्करी सहायता रोकने की घोषणा की है।

आतंकवाद विरोधी युद्ध में सहायता करने की बात दिखाने वाला पाकिस्तान असल में आतंकवादियों को स्पष्ट तौर पर आश्रय दे रहा है और अमरिका के साथ डबल गेम कर रहा है, ऐसा आरोप अमरिका ने किया है। पाकिस्तान के विरोध में अमरिका के पास सभी विकल्प खुले हैं। पाकिस्तान आतंकवादियों पर कार्यवाही करें, अन्यथा अमरिका एकतरफा कार्यवाही हाथ लेगा, इन शब्दों में अमरिका ने पाकिस्तान को कड़ा इशारा दिया है।

अमरिका का यह इशारा गंभीरता से लेकर, पाकिस्तान आतंकवादियों पर कारवाई करें अन्यथा उस के भीषण परिणाम सहने होंगे, ऐसा इशारा पाकिस्तान के विशेषज्ञ सरकार को दे रहे हैं। पर उस के बाद भी पाकिस्तान के विदेशमंत्री ख्वाजा असिफ ने ‘वॉल स्ट्रीट जर्नल’ इस अमरिकी दैनिक को दिए मुलाकात में, अमरिका एवं पाकिस्तान की दोस्ती खत्म होने की घोषणा की है। अमरिका ने पाकिस्तान को दिए जाने वाले लष्करी आर्थिक सहायता रोकी और उस समय यह दोस्ती खत्म होने की बात, ख्वाजा असिफ ने कही है।

अमरिका के लिए पाकिस्तान ने बहुत त्याग किया है। अफगानिस्तान में पाकिस्तान ने अमरिका को साथ दिया, यह पाकिस्तान की बहुत बड़ी गलती थी। अमरिका ने केवल स्वार्थ के लिए पाकिस्तान का उपयोग किया है। पर आगे चलकर यह गलती पाकिस्तान नहीं करेगा, इन शब्दों में ख्वाजा असिफ ने पाकिस्तान द्वारा अमरिका से साथ छोड़ने की बात घोषित की है।