अमरिका के सोमालिया में हवाई हमलें – ३५ आतंकी ढेर

तृतीय महायुद्ध, परमाणु सज्ज, रशिया, ब्रिटन, प्रत्युत्तरमोगादिशु/वॉशिंगटन – अमरिका ने सोमालिया में किए हवाई हमलों में अल शबाब के ३५ आतंकी मारे गए है| सेंट्रल सोमालिया के हिरान में ‘अल शबाब’ ने नए आतंकी हमले की तैयारी शुरू की थी| इसी दौरान यह हमलें किए गए, ऐसी जानकारी अमरिका की ‘अफ्रीका कमांड’ ने दी है| सोमालिया में आतंकविरोधी मुहिम के तहत अमरिका ने वर्तमान वर्ष में किया यह १३ वा हमला था, ऐसा दावा सूत्रों ने किया है|

अमरिका ने वर्ष २०१७ से सोमालिया में आतंकविरोधी मुहिम की आक्रामकता बढाई है और इस मुहिम का दायरा भी बढाने का निर्णय किया था| इसके नुसार ‘अल शबाब’ इस आतंकी संगठन के विरोध में किए जा रहे हवाई हमलों की संख्या बढाई गई है| वर्ष २०१७ में अमरिका की ‘अफ्रीका कमांड’ ने सोमालिया में ३५ हवाई हमले किए थे| उसके बाद वर्ष २०१८ में इन हमलों की संख्या बढकर ४७ हुई है|

लेकिन, अमरिका के हमलों की संख्या बढ रही है, फिर भी ‘अल शबाब’ के आतंकी हमलों की तादाद अभी भी कम नही हुई है| पिछले महीने में केनिया की राजधानी नैरोबी में अल शबाब इस आतंकी संगठन ने भीषण आतंकी हमला किया था| इस हमले में २१ लोगों की मौत हुई थी| नैरोबी में हुए इस हमले के बाद अल शबाब ने सोमालिया में दो लष्करी ठिकानों पर हमले किए थे| इन हमलों में कम से कम ४० सैनिक मारे गए थे, यह दावा किया गया है|

अल शबाब ने लगातार किए इन हमलों की वजह से सोमालिया और केनिया के साथ अमरिका ने पूर्वीय अफ्रीका में शुरू की हुई आतंकविरोधी मुहिम को बडा झटका लगा है, यह समजा जा रहा है| इस वजह से अमरिका की ‘अफ्रीका कमांड’ ने दुबारा बडी आक्रामकता के साथ आतंकविरोधी मुहिम शुरू करके अल शबाब के ठिकानों को लक्ष्य किया है, यह बात सामने आ रही है| पिछले डेढ महीनों में अमरिका ने ‘अल शबाब’ के विरोध में तकरिबन १२ हमलें किए है, यह कहा जा रहा है|

रविवार के दिन हुए हमले के दौरान ड्रोन्स का इस्तेमाल किया गया था, ऐसा बताया जा रहे है और इस दौरान ३५ आतंकियों को मारा गया है, ऐसा बताया जा रहा है| यह आतंकी नए हमले की तैयारी में एक जगह इकठ्ठे हुए थे, ऐसा दावा ‘अफ्रीका कमांड’ कर रही है|

इस दौरान अमरिका की ‘अफ्रीका कमांड’ के प्रमुख जनरल थॉमस वॉल्डहौजर इन्होंने सोमालिया से अल शबाब को खतम करने के लिए सिर्फ हवाई हमले काफी नही होंगे, यह चेतावनी दी है| कुछ दिनों पहले अमरिकी संसद के सामने वॉल्डहौझर ने इस बारे में चिंता व्यक्त की थी| सोमालिया की आतंकी संगठन को खतम करने के लिए सोमालिया का लष्कर और भी मजबूत करना जरूरी है, यह सलाह अमरिकी अधिकारियों ने दिया है|

पिछले कुछ महीनों में ‘अल शबाब’ के सोमालिया में शुरू हमलों में बढोतरी हो रही है और लष्करी ठिकानों के अलावा अन्य अहम यंत्रणाओं को लक्ष्य करने की कोशिश हो रही है| अमरिका और सोमालिया का लष्कर ‘अल शबाब’ जैसी आतंकी संगठन के विरोध में आक्रामक कार्रवाई कर रहे है और ऐसे में भी इस संगठन का प्रभाव बढना चिंता की बात मानी जा रही है|