उजबेकिस्तान भारत के लिए परमाणु ईंधन की आपुर्ति करेगा

अहमदाबाद – उजबेकिस्तान ने भारत को परमाणु ईंधन युरेनियम की आपुर्ति करने की तैयारी जताई है| इस संबंधी दोनों देशों में शुक्रवार के दिन समझौता किया गया| भविष्य की उर्जा सुरक्षा के लिए उजबेकिस्तान के साथ किया गया यह समझौता अहम साबित होगा| गुजरात में शुरू ‘व्हायब्रंट गुजरात’ परिषद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उजबेकिस्तान के राष्ट्राध्यक्ष शौकत मिर्झीयोयेव्ह इनके बीच द्विपक्षीय चर्चा हुई| इसके बाद भारत ने उजबेकिस्तान को २० करोड डॉलर्स की सहायता करने का ऐलान किया|

परमाणु इंधन की निरंतर आपुर्ति होने के लिए भारत ने कई देशों के साथ समझौते किए है और इनमें अमरिका, ऑस्ट्रेलिया, कनाडा का भी समावेश है| साथ ही परमाणु ईंधन से संपन्न रहे मध्य एशियाई देशों के साथ भी भारत सहयोग बढा रहा है|

पिछले वर्ष मध्य एशिया के कजाकिस्तान के साथ भारत ने युरोनियम की आपुर्ति करने के संबंधी समझौता किया था| अब उजबेकिस्तान के साथ भी इसी स्वरूप का समझौता किया गया है| मध्य एशियाई देश युरेनियम निर्यात करने की सुचि में शीर्ष स्थान पर है| इस वजह से इन देशों के साथ भारत का बढता सहयोग काफी अहस साबित होता है|

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज इन्होंने हालही में भारत और मध्य एशियाई देशों की परिषद के लिए उजबेकिस्तान की यात्रा की थी| उसके बाद केवल एक सप्ताह के भीतर ही उजबेकिस्तान के राष्ट्राध्यक्ष भारत की यात्रा कर रहे है| विदेश मंत्री सुषमा स्वराज इनकी उजबेकिस्तान की यात्रा के दौरान इस समझौते को अंतिम रूप दिया गया था, यह जानकारी है| प्रधानमंत्री मोदी इन्होंने उजबेकिस्तान को बुनियादी सुविधाओं का विकास करने के लिए २० करोड डॉलर्स की सहायता करने का ऐलान करके इस देश के साथ बना भारत का सहयोग और भी पुख्ता किया हुआ दिख रहा है|