राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री के ‘एअर इंडिया वन’ के लिए अमरिका की प्रगत ‘मिसाइल डिफेन्स सिस्टिम’ तैनात होगी – ट्रम्प प्रशासन की मंजुरी

वॉशिंगटन/नई दिल्ली: भारत के राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री के लिए इस्तेमाल किए जा रहे ‘एअर इंडिया वन’ इस विशेष विमान के लिए दो प्रगत ‘मिसाइल डिफेन्स सिस्टिम्स’ देने की तैयारी अमरिका ने जताई है| अमरिकी राष्ट्राध्यक्ष डोनाल्ड ट्रम्प इनके प्रशासन ने इस संबंधी प्रस्ताव को मंजूरी देने की जानकारी रक्षा मुख्यालय ‘पेंटॅगॉन’ ने दी है| भारत सरकार ने इस संबंधी प्रस्ताव अमरिकी प्रशासन को भेजा था|

राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, एअर इंडिया वन, अमरिका, प्रगत, मिसाइल डिफेन्स सिस्टिम, तैनात, ट्रम्प, प्रशासन, मंजुरीभारत सरकार ‘एअर इंडिया’ से दो ‘बोईंग ७७७ ईआर’ विमानों की खरीदी करेगी| यह विमान भारत के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री की यात्रा के लिए इस्तेमाल की जाएगी| इन विमानों की मिसाइल हमलों से सुरक्षा हो इस लिए भारत सरकार प्रगत ‘मिसाइल डिफेन्स सिस्टिम्स’ तैनात करने का विचार कर रही है| इस लिए अमरिका की ‘लार्ज एअरक्राफ्ट इन्फ्रारेड काऊंटरमेजर्स’ (एलएआईआरसीएम) एवं ‘सेल्फ प्रोटेक्शन सूटस्’ (एसपीएस) यह दो यंत्रणा का चयन किया गया था|

इस हर एक यंत्रणा का मूल्य १९ करोड डॉलर्स है और अमरिकी प्रशासन ने भारत को इस यंत्रणा की बिक्री करने के लिए मंजूरी दी है, ऐसी जानकारी ‘पेंटॅगॉन’ से दी गई है| ‘लार्ज एअरक्राफ्ट इन्फ्रारेड काऊंटरमेजर्स’ यह यंत्रणा ‘मॅन पोर्टेबल मिसाइल्स’ के हमलें से विमान की रक्षा करने के लिए प्रभावी मानी जाती है| साथ ही मध्यम दूरी के मिसाइल का हमला रोकने के लिए भी यह यंत्रणा सक्षम होने की बात कही जा रही है| इसके लिए इस यंत्रणा में लेजर्स का इस्तेमाल किया गया है|

अमरिका से आपुर्ति की जा रही इन प्रगत यंत्रणाओं की वजह से प्रादेशिक खतरों का सामना करने की भारत की क्षमता में बढोतरी होगी, यह दावा पेंटॅगॉन ने किया है| इस वजह से एशिया में लष्करी संतुलन बिगडने की भी संभावना नही है, यह भी स्पष्ट किया गया है|

अमरिका यह भारत को हथियारों की आपुर्ति करनेवाला दुसरा बडा देश है और राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प इन्होंने हालही में भारत को ‘मेजर डिफेन्स पार्टनर’ का दर्जा दिया था|