प्रिन्स मोहम्मद के नेतृत्त्व के नीचे सऊदी ने इस्रायल और अमरिका के साथ ईरान के खिलाफ मोर्चा खोला – अभ्यासकों का दावा

मॉस्को: ‘क्राऊन प्रिन्स मोहम्मद बिन सलमान के नेतृत्त्व के नीचे सऊदी अरेबिया और इस्रायल का ईरान के खिलाफ बडा मोर्चा खडा हो चुका है| अमरिका अपने इन दोनों मित्रदेशों को पुरी तरह से समर्थन दे रहा है|’ ऐसा दावा ‘लॉरेन्स डेव्हिडस्न’ नामक अभ्यासक द्वारा किया गया है| अमरिका स्थित ‘वेस्ट चेस्टर युनिव्हर्सिटी’ के भूतपूर्व प्राध्यापक रहें डेव्हिडसन् ने यह बताते हुए चेतावनी दी कि, ईरान के खिलाफ जल्द ही सऊदी और इस्रायल का सैनिकी मोर्चा कार्यान्वित हो सकता है|

‘रेडिओ स्पुटनिक’ नामक रशियन रेडिओ चॅनेल को दिये हुए मुलाकात में डेव्हिडसन ने सऊदी अरेबिया की भूमिका में हुए बडे बदलाव की ओंर ध्यान खींचा| वर्तमान में सऊदी के राजा सलमान इस्रायल को दुश्मन नही मानते| इतिहास में इस्रायल और सऊदी के दुश्मनी को राजा सलमान नजरअंदाज कर रहे है| ईरान सऊदी के लिए ज्यादा खतरनाक देश है, ऐसा राजा सलमान का मानना है| इसी लिए सऊदी की भूमिका के बडे बदलाव आये है| इस्रायल के खिलाफ अरब देशों को सहायता करनेवाला सऊदी अरेबिया अब इस्रायल के साथ सहयोग बना रहा है, ऐसा दावा लॉरेन्स डेव्हिडसन् ने किया|

प्रिन्स मोहम्मद, नेतृत्त्व, सऊदी, इस्रायल, अमरिका, ईरान, खिलाफ मोर्चा, दावासऊदी अरेबिया और इस्रायल में बने ईरान विरोधी सहयोग को अमरिका का पूरा समर्थन है| अमरिका का ट्रम्प प्रशासन अपने दोनों सहकारी देशों को पुरी तरह से सहायता कर रहा है| यह प्रशासन जब तक अमरिका की सत्ता संभाल रहा है तब तक अमरिका की यह भूमिका कायम रहेगी, ऐसा भी डेव्हिडसन् ने आगे बताया| इसलिए ईरान के खिलाफ सऊदी अरेबिया को खडा करने के लिए इस्रायल सऊदी को परमाणु अस्त्र भी दे सकता है, ऐसा दावा भी डेव्हिडसन् ने किया है| इसकी पुष्टी में डेव्हिडसन् ने एक इस्रायली अधिकारी ने किये बयान का हवाला दिया है|

‘अमी दोर-ऑन’ नाम के इस्रायली अधिकारी ने सऊदी अरेबिया को परमाणु अस्त्र मिलने के लिए इस्रायल सहायता कर सकता है, ऐसा दावा किया था| इसका दाखला देते हुए सऊदी अरेबिया और इस्रायल में विकसित हो रहें सहयोग पर प्रकाश डाला है| इसी बीच, पिछले कुछ महीनों में हो रही गतिविधियों को देखते हुए डेव्हिडसन् ने किया दावा सच होते हुए दिखाई पड रहा है| इस्रायल और पेलेस्ताईन के झगडे में अबतक सऊदी अरेबिया द्वारा पेलेस्तिनिओं का पक्ष लिया गया था| पर अब पेलेस्तिनियों के इस्रायली सरहद पर शुरू तीव्र प्रदर्शनों के बावजूद, सऊदी अरेबिया के क्राऊन प्रिन्स मोहम्मद बिन सलमान ने इस्रायल के खिलाफ आलोचना करने को नकारा है|

पेलेस्तिनिओं से ज्यादा मुझे सऊदी अरेबिया के जनता के हित की चिंता अधिक है, ऐसा दावा सऊदी के वरिष्ठ नेता ने किया था| वहीं इस्रायल खुले में, सऊदी अरेबिया और अन्य अरब देशों से सहयोग विकसित करने की कोशिश करने के बारे में बता रहा है| इन प्रयासों को सऊदी तथा अन्य अरब देशों से प्रतिसाद मिल रहा है, ऐसा इस्रायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतान्याहू ने बताया था|

प्रधानमंत्री नेत्यान्याहू ने हाल ही में फ्रान्स को भेट दी थी| इस भेंट में उन्होंने घोषणा की थी कि, इस्रायल और सऊदी में सहयोग प्रस्थापित हो रहा है|