क्रिमिआ को भेंट देकर रशियन राष्ट्राध्यक्ष ने दिया पश्‍चिमी देशों के प्रतिबंधों को जवाब

तृतीय महायुद्ध, परमाणु सज्ज, रशिया, ब्रिटन, प्रत्युत्तरक्रिमिआ – ‘क्रिमिआ में विकास की सिर्फ नींव रखी गई है, लेकिन हम हमारा उद्देश्य पूरा करने के लिए पूरी तरह से शक्ति का प्रयोग करेंगे| रशिया ने आपके लिए आनंद से अपना बनाकर स्वीकार किया है| हम अब एक हुए है, इस वजह से हमारे उद्देश्य यकिनन पूरे होंगे’, इस शब्दों में रशिया के राष्ट्राध्यक्ष व्लादिमीर पुतिन इन्होंने क्रिमिआ की जनता को हमेशा के लिए रशिया आपके साथ डटकर खडी रहेगी, यह वादा स्पष्ट तौर पर किया| अमरिका, कनाडा और यूरोपिय देश युक्रैन के साथ क्रिमिआ के मुद्दे पर प्रतिबंध का ऐलान कर रहे थे तभी पुतिन इन्होंने किया यह वक्तव्य पश्‍चिमी देशों को फटकार है|

‘रशिया ने हमेशा ही अंतरराष्ट्रीय नियम की परवाह किए बिना युक्रैन की सार्वभौमता एवं एकता ठुकराने की कोशिश की है| यूरोपिय महासंघ एवं कनाडा के सहयोग से की जा रही नई कार्रवाई रशिया को साथ मिलकर दिया जवाब है’, इन शब्दों में अमरिका ने रशिया के विरोध में नए प्रतिबंधों का ऐलान किया था| लेकिन, पश्‍चिमी देशों से लगाए जा रहे प्रतिबंधों की रशिया जरा भी परवाह नही करती है, ऐसा पुतिन इनकी क्रिमिआ भेंट से स्पष्ट हुआ है|

रशिया ने १८ मार्च यह दिन ‘डे ऑफ क्रिमिआज् रियुनिफिकेशन विथ रशिया’ के तौर पर मनाया जा रहा है| पांच वर्ष पहले यानी वर्ष २०१४ में क्रिमिआ को रशिया में शामिल करने के समझौते पर हस्ताक्षर हुए थे| इस अवसर पर सोमवार के दिन रशियन राष्ट्राध्यक्ष ने क्रिमिआ की यात्रा की| इस दौरान उन्होंने रशिया से क्रिमिआ में बनाए दो ऊर्जा परियोजनाओं का उद्घाटन किया| इनमें से एक परियोजना पिछले वर्ष रशिया एवं युक्रैन के बीच नए विवाद का कारण बने ‘कर्च की खाडी’ के निकट है और पुतिन ने इस परियोजना के जगह पर जाकर ब्यौरा किया|

इस दौरान, पुतिन इनकी क्रिमिआ भेंट की पृष्ठभूमि पर रशिया ने क्रिमिआ में परमाणु अस्त्र वाहक ‘टीयू-२२एओम३ स्ट्रैटेजिक बॉम्बर्स’ विमानों की एवं इस्कंदर मिसाइल तैनात करने का निर्णय करने की जानकारी सामने आ रही है| रशिया की ‘डिफेन्स ऍण्ड सिक्युरिटी कमिटी’ के प्रमुख व्हिक्टर बोदारेव इन्होंने एक मुलाकात में इसके संकेत दिए है, ऐसा प्रसारमाध्यमों ने कहा है|