ट्रम्प की नई धमकी के बाद चीन के शेअर बाजार और चलन की गिरावट – बाहरी दबाव के सामने ना झुकने का चीन ने किया दावा

तृतीय महायुद्ध, परमाणु सज्ज, रशिया, ब्रिटन, प्रत्युत्तरवॉशिंगटन/बीजिंग – अब यदि चीन व्यापारी समझौता करता नही है तो वर्ष २०२० तक इस बात के उसे गंभीर परिणाम भुगतने होंगे, इन कडे शब्दों में अमरिकी राष्ट्राध्यक्ष डोनाल्ड ट्रम्प इन्होंने चीन को धमकाया है| ट्रम्प ने दी इस धमकी का चीन में कडा असर दिखाई दे रहा है और सोमवार के दिन चीन के शेअर बाजार समत चलन में बडी गिरावट हुई| अमरिकी राष्ट्राध्यक्ष ने धमकाने का असर दिख रहा था तभी चीनने किसी भी बाहरी दबाव के सामने हम झुकेंगे नही, यह भूमिका अपनाई है| इस वजह से नजदिकी समय में अमरिका-चीन व्यापार युद्ध का विस्फोट होने के संकेत प्राप्त हो रहे है|

पिछले ही हफ्ते में ट्रम्प ने चीन से अमरिका पहुंच रहे सामान पर लगे करों में बढोतरी एवं नए कर लगाने की घोषणा करके खलबली मचाई थी| चीन का शिष्टमंडल बातचीत के लिए अमरिका पहुंच रहा था, तभी यह घोषणा होने से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कडी प्रतिक्रिया उमड रही थी| उसके बाद लगातार दो दिन हुई बातचीत में अमरिका-चीन व्यापार संबंधी समझौते से जुडी हो रही बातचीत नाकामयाब होने की बात उजागर हुई है| ट्रम्प इन्होंने इस विफलता के लिए चीन को जिम्मेदार कहकर, चीन को इस विफलता की किमत चुकानी ही होगी, यह चेतावनी दी थी|

इसे २४ घंटे होते नही तभी, ट्रम्प ने चीन को नए से धमकाया है| ‘हाल ही में हुई बातचीत के दौरान चीन को कडा झटका लगा है| इस वजह से शायद चीन ने अमरिका के अगले चुनाव तक यानी २०२० तक रुकने का तय किया दिख रहा है| चीन को लग रहा होगा की, शायद उनका नसीब बदलेगा और अमरिका में डेमोक्रैट की जीत होगी| ऐसा हुआ तो चीन फिर एक बार अमरिका में हर वर्ष ५०० अरब डॉलर्स की लूट कर सकेगा| लेकिन, अगले चुनाव में मेरी ही जीत होगी, यह मुझे मालूम है| मेरे दुसरे टर्म में चीन ने समझौता करना तय किया तो उनके लिए वह इतिहास में सबसे बुरा समझौता होगा’, इन सीधे शब्दों में ट्रम्प ने चीन को धमकाया|

उसके बाद चीन को लेकर अपनाई हमारी भूमिका सही है और वर्तमान में अमरिका करों के माध्यम से चीन से अरबों डॉलर्स वसूल कर रही है और आगे भी करती रहेगी, यह दावा अमरिकी राष्ट्राध्यक्ष ने किया| जिन कंपनीयों को समझौते का झटका लग रहा है वह अमरिका में उत्पादन शुरू करें या करों में सहुलियत प्राप्त देशों से खरीद करें, यह सलाह भी ट्रम्प इन्होंने दी है| ‘जो बिडेन’ जैसे नेता चुनाव में विजयी होंगे तो हम अमरिका की लूट शुरू करेंगे, ऐसे सपने चीन देख रहा है, यह दावा भी उन्होंने किया|

अमरिकी राष्ट्राध्यक्ष ने चीन पर की आलोचना का कडा असर सामने आ रहा है| सोमवार के दिन चीन के शेअर बाजार में डेढ प्रतिशत गिरावट देखी गई| पिछले महीने से चीन के शेअर बाजार में छह प्रतिशत से अधिक गिरावट हुई है और यह गिरावट बरकरार रहने के संकेत प्राप्त हो रहे है| शेअर बाजार के साथ ही चीन के युआन को भी अच्छा खासा झटका लगा है और ‘स्पॉट मार्केट’ में एक डॉलर के लिए ६.८६ युआन चुकाने पड रहे है| दोपहर कुछ देर के लिए युआन का दर ६.९ तक जा पहुंचा था, यह जानकारी भी दी गई|

इस पृष्ठभूमि पर चीन के विदेश मंत्रालय ने प्रतिक्रिया दर्ज की है| ‘चीन बाहरी दबाव के सामने कभी भी झुकेगा नही| चीन अपने कानूनी अधिकारों की रक्षा कर सकता है और वह क्षमता चीन रखता है| यह हमारा विश्‍वास भी है’, ऐसा विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने स्पष्ट किया है|