ब्रेक्जिट के लिए पहल करनेवालों को ‘ल्युसिफर’ भी स्वीकार नही करेगा – यूरोपीय महासंघ की भडकाऊ आलोचना

Third World Warब्रुसेल्स: ब्रिटेन में शुरू विवाद चोटी पर पहुंचा है, ऐसे में यूरोपीय महासंघ ब्रिटेन को कडे इशारे दे रहा है| ‘किसी भी समझौते के अलावा ब्रिटेन यूरोपीय महासंघ से बाहर हो, यह मांग करनेवालों को ‘ल्युसिफर’ भी स्वीकार नही करेगा’, ऐसा चौकानेवाला वक्तव्य यूरोपीय संसद के वरिष्ठ अधिकारी ‘गी वरहॉफ्स्टॅड’ इन्होंने कहा है| वहीं, ब्रेक्जिट का समर्थक करनेवालों को नरक में खास जगह रखी गई है, ऐसा विवादास्पद बयान यूरोपीय महासंघ के प्रमुख डोनाल्ड टस्क इन्होंने किया है|

ब्रेक्जिट, पहल करनेवालों, ल्युसिफर, स्वीकार नही, करेगा, यूरोपीय महासंघ, भडकाऊ आलोचनावर्ष २०१६ में हुए सार्वमत के नुसार ब्रिटेन ने यूरोपीय महासंघ से बाहर होने का विकल्प स्वीकार किया था| लेकिन, इसके लिए यूरोपीय महासंघ ने रखा ‘डील’ ब्रिटेन को मंजूर नही| इस पर ब्रिटेन में तीव्र मतभेद बने है| यह सियासी एवं सामाजिक और आर्थिक स्तर पर बने मतभेद तीखा रूख ले रहे है| इस वजह से ब्रिटेन में सामाजिक असंतोष का विस्फोट होगा और इससे दंगे शुरू होंगे, यह चिंता जताई जा रही है| इस पृष्ठभूमि पर ब्रिटेन ने यूरोपीय महासंघ के साथ बातचीत करके अलग समझौते की मांग रखना शुरू किया है| लेकिन, महासंघ अपने पहले रखे प्रस्ताव पर कायम है और यह प्रस्ताव ब्रिटेन ने स्वीकार नही किया तो, किसी भी समझौते के बिना ब्रिटेन को महासंघ छोडना होगा, यह इशारा महासंघ के वरिष्ठ नेता एवं अधिकारी डटकर दे रहे है|

यूरोपियन संसद ने ‘ब्रेक्जिट’ पर बातचीत करने के लिए नियुक्त किए हुए अधिकारी एवं बेल्जियम के पूर्व प्रधानमंत्री ‘गी वरहॉफ्स्टॅड’ इन्होंने भी ब्रिटेन को कडी चेतावनी देकर पूरी दुनिया का ध्यान आकर्षित किया है| ‘किसी भी समझौते के अलावा ब्रेक्जिट की मांग करनेवालों को ल्युसिफर भी स्वीकारेगा क्या, यह मुझे आशंका है| क्योंकी ऐसी मांग कर रहे ब्रेक्जिट समर्थक नरक में भी विरोधी गुट बनाएंगे’, ऐसा विवादास्पद बयान ‘वरहॉफ्स्टॅड’ इन्होंने किया| ‘ल्युसिफर’ ने भी स्वीकार नही करना यानी नरक में भी स्थान प्राप्त नही होने जैसा होगा, यह ‘वरहॉफ्स्टॅड’ इनका कहना है|

ब्रेक्जिट, पहल करनेवालों, ल्युसिफर, स्वीकार नही, करेगा, यूरोपीय महासंघ, भडकाऊ आलोचनाकुछ धर्मों की स्वीकृति के नुसार ल्युसिफर यह कुमार्गियों का नियन्ता है और उसके पास नरक का आधिपत्य होने की बात मानी जाती है| ‘ब्रेक्जिट’ समर्थकों को वह भी स्वीकारेगा नही इतने खराब दर्जा के है, यह संदेशा ‘वरहॉफ्स्टॅड’ इन्हें देना है| ‘वरहॉफ्स्टॅड’ इन्होंने की यह आलोचना करने से कुछ समय पहले यूरोपीय महासंघ के प्रमुख ‘डोनाल्ड टस्क’ इन्होंने ब्रेक्जिट समर्थकों पर इसी तरह की आलोचना की थी| ‘ब्रेक्जिट’ समर्थकों के नरक में खास स्थान रखा गया होगा, ऐसी फटकार टस्क इन्होंने लगाई थी| ब्रेक्जिट समर्थकों को नरक में रखा गया यह स्थान कैसा होगा, यह विचार मेरे मन में उठ रहा है, ऐसा टस्क ने आगे कहा था|

उसके बाद ‘गी वरहॉफ्स्टॅड’ इन्होंने ब्रेक्जिट समर्थकों को नरक में भी स्थान नही मिलेगा, क्योंकी वह वहां भी गुटबाजी करेंगे, ऐसी कडी आलोचना की है| ‘ब्रेक्जिट’ के मुद्दे पर यूरोपीय महासंघ ने ब्रिटेन से संबंधी अपनाई कठोर भूमिका का दाखिला ‘वरहॉफ्स्टॅड’ एवं ‘डोनाल्ड टस्क’ इनके इस भडकाऊ वक्तव्य से प्राप्त हो रहा है| इस वजह से नजदिकी समय में इस प्रश्‍न पर तीव्र सियासी एवं आर्थिक संघर्ष शुरू होने की आशंका स्पष्ट हो रही है|