होर्मुज की ईंधन यातायात बंद करने की ईरान ने दी हुई धमकी से कुवैत चिंतित

तृतीय महायुद्ध, परमाणु सज्ज, रशिया, ब्रिटन, प्रत्युत्तरकुवैत सिटी – अमरिकी युद्धपोतों का ड्रोन फुटेज प्रसिद्ध करके होर्मुज खाड़ी बंद करने की ईरान ने दी धमकी पर खाड़ी क्षेत्र से प्रतिक्रिया उमड़ रही है| ईंधन के परिवहन के लिए सामरिक दृष्टि से महत्वपूर्ण सागरी क्षेत्र में बाधा करने की ईरान ने दी हुई धमकी चिंताजनक है, ऐसा कुवैत के उप-विदेशमंत्री ने कहा है| तथा ईरान के विरोध में युद्ध पुकारना है, इसीलिए संयुक्त अरब अमीरात अमरिका को चंगुल में फंसा रहा है, यह आरोप ईरान ने किए थे| इन आरोपों पर यूएई ने कडा प्रत्युत्तर दिया है|

पिछले हफ्ते में अमरिका ने ईरान पर लगाए प्रतिबंध कठोर करने की घोषणा करके, ईरान के साथ ईंधन व्यापार के लिए दी हुई सभी सहुलियत हटाने की बात घोषित की थी| ईरान की ईंधन निर्यात शून्य पर लाने के लिए यह प्रतिबंध जारी करने की जानकारी अमरिका के विदेश मंत्री माईक पोम्पिओ ने दी थी| अमरिका के इन प्रतिबंधों के परिणाम दिखाई देने की वजह से बौखलाए ईरान ने होर्मुज की खाड़ी बंद करने की धमकीयॉं देनी शुरू की है| ईरान के विदेश मंत्री जावेद झरीफ, रिव्होल्युशनरी गार्ड के प्रमुख अलीरेजा तांगसीरी तथा कुछ घंटों पहले ईरान के रक्षादल प्रमुख मोहम्मद बाघेरी ने होर्मुज खाड़ी से हो रहा ईंधन परिवहन बंद करने की धमकी दी है|

ईरान का ईंधन होर्मुज खाड़ी से अंतरराष्ट्रीय बाजार में नहीं पहुंचेगा तो अन्य किसी भी देश का ईंधन इस सागरी क्षेत्र से बाहर नहीं निकलने देंगे, ऐसा ईरान के लष्करी नेताओं ने घोषित किया था| पर्शियन खाड़ी क्षेत्र को अंतरराष्ट्रीय सागरीय क्षेत्र से जोड़नेवाले मार्ग के तौर पर होर्मुज का खाड़ी क्षेत्र पहचाना जाता है| इस सागरी क्षेत्र से दुनिया के १/३ ईंधन की निर्यात की जाती है| इस वजह से ईरान ने इस सागरी क्षेत्र पर कब्जा प्राप्त किया अथवा संघर्ष की वजह से यह क्षेत्र परिवहन के लिए बंद किया तो उसके परिणाम खाड़ी देशों के ईंधन निर्यात पर हो सकते हैं| कुवैत की वित्त व्यवस्था ईंधन पर निर्भर होने की वजह से ईरान की इन धमकियों पर कुवौत से पहली प्रतिक्रिया प्राप्त हुई है|

ईरान की धमकी चिंताजनक होकर हमेशा की तरह खाड़ी क्षेत्र में संघर्ष से कुवैत दूर रहेगा, ऐसा कहकर अपनी भूमिका स्पष्ट की है| तथा यूएई ने ईरान के आरोपों पर प्रत्युत्तर दिया है| ईरान के साथ युद्ध छेड़कर प्रशासन पलटने के लिए अमरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन तथा इस्रायल, सौदी अरब एवं यूएई ने षडयंत्र किया है, यह आरोप ईरान के विदेशमंत्री ने किया था| पर ईरान के यह आरोप बेबुनियाद होने की बात ‘यूएई’ ने कही है|

दौरान अगले कुछ घंटों में अमरिका ने ईरान पर लगाए कडे प्रतिबंधों का अमल शुरू हो रहा है|