जम्मू-कश्मीर में हुई मुठभेड़ में – ‘लष्कर’ के कमांडर के साथ साथ दो आतंकवादी ढेर

मुंबई: जम्मू-कश्मीर के ‘लष्कर-ए-तोएबा’ का कमांडर ‘शकूर दार’ और उसके साथियों को सुरक्षा बालों ने ढेर कर दिया है। इस दौरान हुई मुठभेड़ में एक आतंकवादी ने सरेंडर किया है। पिछले एक हफ्ते में जम्मू-कश्मीर में हुई यह चौथी बड़ी मुठभेड़ है। दो दिनों पहले ही जम्मू-कश्मीर के ‘आईएस’ संलग्न आतंकवादी संगठन के चार आतंकवादियों को मारा गया था। जम्मू-कश्मीर में इन दिनों ढाई सौ आतंकवादी कार्यरत हैं और राज्य से आतंकवादियों के उच्चाटन के लिए रक्षा बलों ने व्यापक कार्रवाई शुरू की है।

जम्मू-कश्मीर, मुठभेड़, लष्कर, कमांडर, दो आतंकवादी, ढेर, मुंबई, बिपिन रावतआठ दिनों पहले जम्मू-कश्मीर की संघर्षबंदी खत्म हुई थी। उसके बाद दो दिनों में ही इस राज्य में राज्यपाल शासन लागू हुआ है और आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई तीव्र हुई है। एक हफ्ते में चार बड़ी मुठभेड़ हुईं हैं और इसमें १३ आतंकवादी मारे गए हैं। रविवार को हुई मुठभेड़ में ‘लश्कर’ कमांडर शकूर मारा गया है। दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले में छेदार गाँव में यह मुठभेड़ हुई है।

शकूर दार इस इलाके में छिपकर बैठा है, ऐसी जानकारी सुरक्षा बलों को मिली थी। उसके बाद लष्कर, सीआरपीएफ और जम्मू-कश्मीर पुलिस की संयुक्त कार्रवाई में शकूर के मारे जाने की जानकारी जम्मू-कश्मीर पुलिस ने दी है। इन आतंकवादियों को सरेंडर करने का मौका दिया गया था। लेकिन आतंकवादियों ने सुरक्षा बलों पर गोलीबारी करना शुरू किया। उसके बाद प्रत्युत्तर देने के लिए शुरू की गोलीबारी में दो आतंकवादी मारे गए। इसमें शकूर था और दूसरे आतंकवादी की अभी तक पहचान नहीं हुई है। यह आतंकवादी पाकिस्तान होने की आशंका पुलिस ने जताई है। पिछले वर्ष सोशल मीडिया पर अपनी फोटो पोस्ट करके शकूर चर्चा में आया था।

तिसरे आतंकवादी ने सरेंडर किया है। यह आतंकवादी हाल ही में भरती हुआ था। उसकी पहचान पुलिस ने गोपनीय रखी है।

जल्द ही अमरनाथ यात्रा शुरू होने वाली है। इस यात्रा पर आतंकवादी हमले हो सकते हैं, ऐसी चेतावनी गुप्तचर यंत्रणाओं ने दी है। पिछले वर्ष भी अमरनाथ यात्रा पर हमला हुआ था। इस पृष्ठभूमि पर जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर सुरक्षा बढाई गई है और आतंकवादियों के खिलाफ कार्रवाई तीव्र की गई है, ऐसा जम्मू-कश्मीर के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा है।

दौरान, जम्मू-कश्मीर के २१ प्रमुख आतंकवादियों की सूचि बनाई गई है। इसमें से ‘आईएसजेके’ के कमांडर का दो दिनों पहले खात्मा किया गया है। लेकिन अभी भी इस राज्य में २५० आतंकवादी उत्तर और दक्षिण कश्मीर में छिपे हैं। उत्तर कश्मीर से भी दक्षिण कश्मीर के आतंकवादी अधिक गातिविधियां कर रहे हैं। इसमें से २५ से ३० आतंकवादियों का एक समूह बड़े हमले की तैयारी में होने की जानकारी, भारतीय लष्कर ने दी है।

 

लष्कर प्रमुख बिपिन रावत का सीमा इलाके का दौरा

जम्मू-कश्मीर, मुठभेड़, लष्कर, कमांडर, दो आतंकवादी, ढेर, मुंबई, बिपिन रावत

लष्कर प्रमुख जनरल बिपिन रावत जम्मू-कश्मीर के दौरे पर हैं और उन्होंने सीमा क्षेत्र को भेंट देकर यहाँ की सुरक्षा का मुआइना किया। कुपवाड़ा और बारामुल्ला की नियंत्रण रेखा पर स्थित सीमा चौकियों को जनरल रावत ने भेंट दी। इस दौरान हाल ही में नॉर्दन कमांड के सूत्र हाथों में लेने वाले लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह भी लष्कर प्रमुख के साथ उपस्थित थे।

संघर्षबंदी हटाने के बाद और राज्यपाल शासन लागू होने के बाद लष्करप्रमुख जनरल रावत का यह पहला ही जम्मू-कश्मीर दौरा है। इस वजह से इस दौरे का महत्व बढ़ गया है। शनिवार को लष्कर प्रमुख रावत ने राज्यपाल एन.एन. व्होरा से मुलाकात की थी।