भारतीय सैनिकों ने घुसपैठी चीनी जवानों को बाहर खदेड़ा

नई दिल्ली – भारतीय लष्कर ने डोकलाम में घुसपैठ करनेवालो को दिया प्रत्युत्तर भूले हुए चीन ने अरुणाचल प्रदेश में घुसपैठ की है और डोकलाम की तरह भारतीय जवानों ने चीन के सैनिकों को अरुणाचल प्रदेश की सीमा के बाहर खदेड़ा है।लगभग हफ्ते भर पहले यह घटना होने का वृत्त है।

भारतीय सैनिक, प्रत्युत्तर, भारतीय लष्कर, चीनी जवान, घुसपैठ, भारत, उत्तराखंड

चीन डोकलाम में फिर एक बार भारत को चेतावनी देने के प्रयत्न में होता दिखाई दे रहा है। अरुणाचल अपना भूभाग होने का दावा चीन कर रहा है और इसके लिए चीन से षडयंत्र शुरू है। पिछले हफ्ते में अरुणाचल के दिबांग में सीमा रेखा पर चीन के ११जवानों ने घुसपैठ की थी। भारतीय माध्यमों ने चीन के इस घुसपैठ की जानकारी उजागर की है।यह घुसपैठ जवान दिबांग के स्थानीय लोगों के नजर में आने पर उन्होंने भारतीय सैनिकों की जानकारी दी एवं चीनी सैनिकों की तस्वीरे खिंची। चीनी सैनिकों  के सबूत हाथ लगने के बाद भारतीय लष्कर ने तत्काल कार्रवाई करके वापस जाने के लिए विवश किया था।

अरुणाचल प्रदेश को अपना भूभाग होने का दावा चीन ने किया है। पर चीन का यह दावा भारत में उधेड़ा है और अरुणाचल प्रदेश के बारे में चीन के षड्यंत्र सहन नहीं किए जाएंगे, ऐसा कहकर भारत ने फटकारा है।अरुणाचल प्रदेश के अतिरिक्त चीन ने उत्तराखंड के सीमा का भी उल्लंघन किया था। अगस्त महीने में चीन की घुसपैठ सैनिकों ने तीन बार उत्तराखंड की सीमा रेखा लांघी थी। तथा पिछले वर्ष के जुलाई महीने में चीन के सैनिकों ने बारहोती भाग में १किलोमीटर तक घुसपैठ की थी।

दौरान पिछले वर्ष चीन ने डोकलाम में घुसपैठ करके व्यूहरचनात्मक रूप से महत्वपूर्ण होनेवाले इस भूभाग का कब्ज़ा पाने का प्रयत्न किया था। इसके लिए चीन ने भारत के सीमा के पास बड़े तादाद में सेना तैनाती की थी। पर भारतीय लष्कर ने ३महीने डोकलाम में घुसपैठ को रोककर चीन को प्रत्युत्तर दिया था। भारत ने डोकलाम का प्रश्न पर लिए ठोस भूमिका की वजह से चीन की दुनियाभर की बदनामी हुई थी। इसपर चीन से घुसपैठ के प्रश्न बढ़ेंगे,ऐसी चेतावनी तज्ञ लोगों से दी जा रही थी।