तुर्की से लीबिया जा रहे जहाज का शरणार्थियों ने किया अपहरण – माल्टा की लष्करी कार्रवाई करके जहाज को छुडाया

Third World Warवॅलेटा/रोम: तुर्की से लीबिया जा रहे व्यापारी जहाज का शरणार्थियों के गुट ने अपहरण करने की चौकानेवाली खबर उजागर हुई है| अपहरण के बाद कुछ ही घंटो में माल्टा ने लष्करी कार्रवाई करके इस जहाज को छुडाया| इस मामले में कुछ शरणार्थियों को गिरफ्त में लिया गया है| फिलहाल यह जहाज माल्टा की राजधानी वॅलेटा में रखा गया है और इस घटना पर इटली के अंतर्गत सुरक्षा मंत्री मैटिओ सैल्व्हिनी इन्होंने जोरदार आलोचना की है| शरणार्थियों ने जहाज का अपहरण करने की यह पहली ही घटना है और इस वजह से यूरोप में शरणार्थियों को हो रहा विरोध और भी तीव्र हो सकता है|

‘एल हिब्लु१’ यह जहाज मंगलवार के दिन तुर्की से लीबिया की राजधानी त्रिपोली जाने के लिए निकल पडा था| बुधवार के दिन इस जहाज ने समुद्र में छोडे गए १०० से भी अधिक शरणार्थियों बचाया था| इसके बाद यह जहाज दुबारा लीबिया की दिशा में जा रहा था| लेकिन, लीबिया की समुद्री सीमा से कुछ मील दूरी पर जहाज पर मौजूद शरणार्थियों का गुट आक्रामक हुआ| इस गुट ने जहाज के कप्तान को एवं कर्मचारियों को धमकाया और उन्हें जहाज का मार्ग बदलकर यूरोप की दिशा में आगे बढने पर विवश किया|

तुर्की, लीबिया, जहाज, शरणार्थियों, अपहरण, माल्टा, लष्करी कार्रवाई, छुडाया, वॅलेटा, रोमजहाज माल्टा एवं इटली की दिशा में आगे बढ रहा ता तभी जहाज के कप्तान ने मदद के लिए संदेशा दिया| यह संदेशा माल्टा की यंत्रणा को प्राप्त हुआ और उसके बाद माल्टा की सेना ने दो ‘फास्ट अटैक बोटस्’ एवं एक जहाज अपहरण हुए जहाज की दिशा में रवाना किया| उसके बाद माल्टा की लष्करी टुकडी ने जहाज पर प्रवेश करके कार्रवाई की और इस दौरान अपहरण करनेवाले शरणार्थियों को कब्जे में लिया| उसके बाद जहाज माल्टा के बंदरगाह पर लाया गया है और सभी शरणार्थियों को गिरफ्त में लिया गया है| जहाज का कप्तान औप साथ में सभी कर्मचारी सुरक्षित होने की जानकारी सूत्रों ने दी है|

भूमध्य समुद्र में हुई इस अपहरण की घटना के बाद यूरोप में अच्छी खासी खलबली मची है| इटली के अंतर्गत सुरक्षा मंत्री मैटिओ सैल्व्हिनी इन्होंने इस घटना का संज्ञान लेकर फिर एक बार शरणार्थियों का मुद्दा उठाया है| कुछ महीने पहले शरणार्थि एवं उन्हें छुडानेवाले जहाजों पर इटली ने लगाया प्रतिबंध सही था, ऐसा सैल्व्हिनी इन्होंने इस घटना के संदर्भ में डटकर कहा है| व्यापारी जहाज से जुडी यह घटना यानी समुद्री डकैती ही होती है, यह आरोप भी उन्होंने किया|

पिछले कुछ महीनों में खाडी एवं अफ्रीका से यूरोप में घुसपैठ कर रहे शरणार्थियों की संख्या में कटौती होने की जानकारी सामने आ रही थी| इसी दौरान शरणार्थियों ने उन्हें ही बचानेवाले जहाज का अपहरण करने की घटना सामने आने से यूरोपीय देशों में खलबली मच सकती है| शरणार्थियों की वजह से यूरोपीय देशों की सुरक्षा खतरें में आने के दावे किए जा रहे है| तभी, शरणार्थियों का समर्थन करनेवाले इन दावों में सच्चाई ना होने की आलोचना कर रहे है| लेकिन, यूरोप में दाखिल हो रहे परधर्मी शरणार्थियों के गुनाह सामने आ रहे है और इस वजह से उन्हें विरोध करनेवाले गुटों का पक्ष मजबूत हो रहा है|

शरणार्थियों के गुट ने जहाज का अपहरण करने से सुरक्षा के मुद्दे पर शरणार्थियों को विरोध कर रहे गुटों के दावे को भी अधिक मजबूती दी है|