पाकिस्तान की सरहद से सटे राजस्थान के जैसलमेंर में हुए जनसांख्यिकी बदलाव की ‘बीएसएफ’द्वारा दखल

नई दिल्ली – राजस्थान के जैसलमेर जिले में पाकिस्तान से जुड़े हुए सीमा भाग में हो रहे जनसंख्या बदलाव पर सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) ने ध्यान दिया है| इस संदर्भ में केंद्रीय गृह मंत्रालय को बीएसएफ ने रिपोर्ट प्रस्तुत किया है, जिसमें जैसलमेर की सीमा भाग में इस्लाम धर्म के लोगों का प्रमाण दूसरों की तुलना में बढ़ने की बात दर्ज हो रही है| पर ऐसा होते हुए भी फिलहाल वहां कोई भी देश विरोधी गतिविधियां एवं मानसिकता का सबूत नहीं मिला है, यह भी बीएसएफ ने अपनी रिपोर्ट में स्पष्ट किया है|

पाकिस्तान से जुड़े हुए सीमा भाग में बीएसएफ ने हमेशा कड़ी नजर रखी है| इसलिए जैसलमेर में पाकिस्तान से जुड़े हुए सीमा भाग में हुए जनसंख्या बदलाव को दर्ज करके उसका रिपोर्ट किया गया है| अन्य समुदाय की तुलना में वहां के इस्लाम धर्म के लोगों की संख्या २२ से २५ प्रतिशत से बढ़ने की जानकारी बीएसएफ ने इस रिपोर्ट में दी है| साथ ही कई महत्वपूर्ण बातें भी इस रिपोर्ट में बताई गई है|

इन इस्लाम धर्मियों में स्थानीय पहराव एवं संस्कृति के बदले अरब संस्कृति का प्रभाव होने का दावा इस रिपोर्ट में किया है| तथा वहां के प्रार्थना स्थलों में नियमित उपस्थिति रहनेवाले युवा वर्ग की संख्या भी बढ़ी है| यह सारे बदलाव देखते समय इस रिपोर्ट में कई सकारात्मक परीक्षण भी दर्ज हुए हैं|

फिलहाल इस जगह किसी भी स्वरूप की देश विघातक कार्रवाईया शुरू नहीं है, ऐसा कहकर वहां कोई भी सबूत नहीं मिले हैं, ऐसी जानकारी बीएसएफ ने दी है|

तथा सीमा भाग में इस्लाम धर्मियों की संख्या बढ़ रही है| फिर भी पाकिस्तान की तरफ किसी को भी सहानुभूति नहीं है, इसकी तरफ भी इस रिपोर्ट में ध्यान केंद्रित किया गया है| साथ ही यहां पर बहुसंख्यक लोगों में दक्षिणपंथी संगठनों का प्रभाव इस जगह बढ़ने की बात बीएसएफ ने दर्ज की है| यह प्रभाव बढ़ रहे कई गांवों के नाम भी इस रिपोर्ट में दिए गए हैं| यह प्रभाव बढ़ने के पीछे असुरक्षा की भावना होने का दावा किया जा रहा है|

दौरान केंद्रीय गृह मंत्रालय के सामने रखी इस रिपोर्ट में सुरक्षा के दृष्टिकोण से आवश्यक कई बातें दिखाई दे रही है| साथ ही इस सीमा भाग में नियमित रूप से पाकिस्तान में जानेवाले कई लोगों के नाम भी बीएसएफ ने अपने पास रखे हैं|

व्यवसायिक वजह के लिए हम पाकिस्तान में जा रहे है, यह खुलासा भी इन व्यक्तियों से किया जा रहा है, ऐसा बीएसएफ ने कहा है|