पैसिफिक क्षेत्र में शुरू चीन की गतिविधियों की पृष्ठभूमि पर ऑस्ट्रेलिया खरीद रही है १२ ‘स्टेल्थ सबमरीन’ – फ्रान्स के साथ ३५ अरब डॉलर्स के समझौते पर भी किए हस्ताक्षर

तृतीय महायुद्ध, परमाणु सज्ज, रशिया, ब्रिटन, प्रत्युत्तरकैनबेरा – एशिया-प्रशांत समुद्री क्षेत्र में चीन की बढती आक्रामकता रोकने के लिए फ्रान्स से १२ पनडुब्बीयां खरीद ने का निर्णय ऑस्ट्रेलिया ने किया है| सोमवार के दिन प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन एवं फ्रेन्च रक्षा मंत्री फ्लॉरेन्स पार्ले इनकी मौजुदगी में अंतिम समझौते पर हस्ताक्षर हुए| इस समझौते के नुसार ऑस्ट्रेलिया फ्रान्स से १२ ‘बैराकुडा स्टेल्थ सबमरिन्स’ खरीदी कर रहा है और यह खरीदी का समझौता लगभग ३५ अरब डॉलर्स का है|

पिछले कुछ वर्षों से चीन ने ‘साउथ चाइना सी’ के साथ एशिया-प्रशांत समुद्री क्षेत्र में अपना वर्चस्व बढाने पर जोर दिया है| चीन के इस वर्चस्वता को रोकने के लिए अमरिका ने जापान, ऑस्ट्रेलिया और भारत के साथ ही यूरोपीय देशों का गठबंधन बनाने की कोशिश शुरू की है| इसके लिए इन देशों की नौसेना का सामर्थ्य बढाने के लिए अमरिका पहल कर रही है और ऑस्ट्रेलिया एवं फ्रान्स में हुआ यह ऐतिहासिक समझौता भी उसी का हिस्सा होने की बात दिखाई दे रही है|

ऑस्ट्रेलिया के बेडे में फिलहाल ‘कॉलिन्स क्लास’ की छह पनडुब्बीयां है और वह १९९६ से २००३ के दौरान नौसेना में शामिल की गई थी| लेकिन, पिछले कुछ वर्षों में चीन ने नौदल सामर्थ्य बढाने के लिए उठाए कदमों का विचार करे तो इसकी तुलना में ऑस्ट्रेलिया का रक्षा सामर्थ्य काफी कम रहेगा, ऐसा दावा ऑस्ट्रेलिया के विश्‍लेषक और अधिकारी कर रहे है| इस वजह से नया समझौता ऑस्ट्रेलिया की नौसेना का सामर्थ्य बढाने की दिशा में अहम माना जा रहा है|

इन फ्रेन्च पनडुब्बीयों का निर्माण ऑस्ट्रेलिया में ही होगा और इस संबंधी तकनीक भी ऑस्ट्रेलिया को प्राप्त होगी, यह जानकारी सूत्रोंने दी है|