व्हेनेजुएला में विद्रोह कराने के लिए अमरिका की कोशिश – रशियन विदेश मंत्री का आरोप

तृतीय महायुद्ध, परमाणु सज्ज, रशिया, ब्रिटन, प्रत्युत्तर

मास्को/वॉशिंगटन – लैटिन अमरिका में व्हेनेजुएला के मुद्दे पर अमरिका और रशिया के बीच नए से तनाव निर्माण हुआ है| चालबाजी से व्हेनेजुएला की सत्ता काबीज करनेवाले मदुरो सरकार अवैध होने का ऐलान करके अमरिका ने मुख्य विपक्षी नेता ‘जुआन ग्वाईदो’ यह व्हेनेजुएला के अधिकृत राष्ट्राध्यक्ष होने का ऐलान किया| ब्राजील के साथ अन्य लैटिन अमरिकी देशों ने भी ग्वाईदो इनकी सरकार को अपना समर्थन घोषित किया है| लेकिन, रशिया ने इस पर आलोचना की है और व्हेनेजुएला में विद्रोह कराने की कोशिश अमरिका कर रहा है, यह आरोप रशियन विदेश मंत्री लॅव्हरोव्ह इन्होंने किया है|

हफ्ते पहले निकोलस मदुरो इन्होंने दुसरी बार व्हेनेजुएला के राष्ट्राध्यक्ष पद की जिम्मेदारी संभाली है| लेकिन, मदुरो इनका शपथग्रहण समारोह एक तरफा कार्यक्रम साबित हुआ| व्हेनेजुएला के विपक्षी गुटों ने मदुरो इनकी सरकार स्वीकारने से इन्कार किया है| व्हेनेजुएला की जनता भी मदुरो इनकी नीति की वजह से निर्माण हुए भयंकर आर्थिक संकट की आग में झुलस रही है और पेट भरने के लिए पडोसी देशों की ओर भाग रही है| इस का असर लैटिन अमरिका में होना शुरू हुआ है| इस पृष्ठभुमि पर अमरिका के उपराष्ट्राध्यक्ष माईक पेन्स इन्होंने कुछ दिन पहले मदुरो सरकार अवैध होने की आलोचना की थी|

मदुरो इन्होंने अवैध मार्ग से अपने देश की सत्ता हथियाई है, यह आरोप करके अमरिकी उपराष्ट्राध्यक्ष ने इसके आगे व्हेनेजुएला के विपक्षी नेता ‘ग्वाईदो’ यह व्हेनेजुएला के अधिकारिक राष्ट्राध्यक्ष होंगे, यह ऐलान किया था| साथ ही व्हेनेजुएला की जनता मदुरो इनकी हुकूमत पलट दे, यह निवेदन भी अमरिकी नेता ने किया था| मदुरो सरकार को घुटने के बल लाने के लिए अमरिका की सुरक्षा समिती ने व्हेनेजुएला की ईंधन पर प्रतिबंध लगाने की तैयारी की है| अमरिका के इन प्रतिबंधों की वजह से व्हेनेजुएला के प्रतिदिन पांच लाख बैरल्स ईंधन की निर्यात पर रोक लग सकती है| इस वजह से व्हेनेजुएला में ईंधन खनन कर रही अमरिकी कंपनीयों ने गतिविधियां बढाई है|

‘ऑर्गनायजेशन ऑफ अमरिकन स्टेटस्’ इस संगठन के स्थायी समिती में शामिल १९ देशों ने भी मदुरो इनकी सरकार को अवैध कहा है| ब्राजील, कोलंबिया, पेरू इन देशों ने खुले तौर पर मदुरो इनकी सरकार पर आलोचना की है| व्हेनेजुएला में जनतंत्र स्थापित करने के लिए हम सहायता करेंगे, यह कहकर ब्राजील के नए राष्ट्राध्यक्ष ‘बोल्सोनारो’ इन्होंने भी मदुरो इनकी हुकूमत के विरोध में बांहे थपथपाई है| इस मामले में ब्राजील के विदेश मंत्री ने व्हेनेजुएला के विपक्षी नेता से भेंट करने का दावा भी किया जा रहा है| अमरिका और लैटिन अमरिका के मित्रदेशों ने व्हेनेजुएला की मदुरो सरकार का बायकाट करने पर रशिया ने प्रत्युत्तर दिया है|

‘व्हेनेजुएला के अंतर्गत कारोबार में अमरिका हस्तक्षेप ना करे| व्हेनेजुएला की विपक्ष को अमरिका का उकसाना इस देश में विद्रोह होने के लिए कारण होगा’, ऐसी फटकार रशिया के विदेश मंत्री सर्जेई लॅव्हरोव्ह इन्होंने लगाई है| इसके पहले भी अमरिका ने व्हेनेजुएला पर लगाए प्रतिबंधों पर रशिया ने आलोचना की थी| वही, पिछले महीने में रशिया के लडाकू और बॉम्बर्स विमानों ने व्हेनेजुएला में हवाई अभ्यास किया था| इसके अलावा व्हेनेजुएला में रशिया लष्करी अड्डा बनाने की कोशिश भी कर रही है| इस पृष्ठभुमि पर अमरिका ने मदुरो सरकार पर की आलोचना और विपक्षी नेता को अधिकारिक राष्ट्राध्यक्ष का दर्जा देने से रशिया बेचैन होता दिख रहा है|

इस दौरान, मदुरो सरकार ने अपने राजनीतिक विरोधकों के साथ ही लष्करी विरोधकों पर कडी कार्रवाई करना शुरू किया है| पिछले हफ्तें में मदुरो इन्होंने लष्कर के कुछ वरिष्ठ अधिकारी और सैनिकों को देशद्रोह के अपराध के लिए गिरफ्तार किया था| वही, पेरू में तैनात व्हेनेजुएला के लष्कर ने एक टीव्ही कार्यक्रम के दौरान मदुरो सरकार हमें मंजूर नही है, यह सीधे तौर पर घोषित किया था|