इटली के ‘रिआस’ शहर से २०० शरणार्थियों की खदेड़ होने वाली है – अंतर्गत रक्षामंत्री मॅटिओ सॅल्व्हिनी के आदेश   

तृतीय महायुद्ध, परमाणु सज्ज, रशिया, ब्रिटन, प्रत्युत्तर

रोम – इटली के रिआस शहर के २०० शरणार्थियों को खदेड़ने के आदेश अंतर्गत रक्षामंत्री मॅटिओ सॅल्व्हिनी ने दिए हैं। कुछ दिनों पहले इस शहर के मेयर ‘डॉमेनिको लुकानो’ को नजरबंदी की सजा सुनायी  गई थी। लुकानो पर शरणार्थियों को आसरा देने के लिए नकली विवाह कराने का और निधि का दुरुयोग करने का आरोप लगाया गया था।

कुछ महीनों पहले इटली में स्थान हुए दक्षिण पंथी राष्ट्रवादी सोच वाली आघाड़ी सरकार ने शरणार्थियों के खिलाफ आक्रामक  नीति अपनाई है। इटली के बंदरगाह से अवैध रूपसे देश में घुसने वाले शरणार्थियों पर प्रतिबन्ध लगाते समय उनको लेकर आने वाले जहाजों पर सीधे बंदी घोषित की गई है।

इटली के अंतर्गत रक्षामंत्री सॅल्व्हिनी ने शरणार्थी नशीली पदार्थ और अन्य तस्करी करने वाले अपराधिक गिरोहों के लिए व्यवसाय बनने का आरोप लगाया था। उसी समय इटली ऐसे व्यवसायों का हिस्सा नहीं बनने वाला, ऐसी चेतावनी भी दी थी। उसके बाद यूरोपीय महासंघ को चुनौती देकर शरणार्थियों के बारे में नियमों में परिवर्तन करने के लिए इटली को मजबूर किया था।

इसी पृष्ठभूमि पर रिआस में शरणार्थियों को अवैध रूप से आसरा दिया जा रहा है और उसमें शहर के मेयर का हाथ होने की बात सामने आई थी। वाम पंथी सोच के समर्थक लुकानो ने पिछले दशक में इस शहर में सैंकड़ों शरणार्थियों को आसरा देने की जानकारी भी सामने आई थी। शरणार्थियों को आसरा देने की यह प्रक्रिया ‘रिआस मॉडल’ के तौर पर प्रसिद्ध हुई थी।

लेकिन शरणार्थियों को आसरा देने के लिए उनके स्थानीय युआ/युवतीओं के साथ नकली शादी कराके दी जाने की जानकारी सामने आई थी। मेयर लुकानो खुलकर शरणार्थियों को इस तरह से शादी करने के प्रस्ताव देने की बात उनके संभाषण से सामने आई थी। उसी समय शरणार्थियों के लिए बनाए गए केंद्र, उसके लिए दिया हुआ निधि और वास्तव में होने वाला खर्चा इसमें बड़ी असमानता नजर आई थी। इस वजह से मेयर लुकानो की पूछताछ के आदेश दिए गए थे।

शनिवार को अंतर्गत रक्षामंत्री सॅल्व्हिनी ने एक निवेदन जारी करके इस तरह के घोटालों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा ऐसी चेतावनी दी। जो कोई भी ऐसी गलती कर रहा हो, उनको इसकी कीमत चुकानी पड़ेगी। घोटाले शरणार्थियों के नाम हो रहे हैं, लेकिन उन्हें बर्दाश्त नहीं किया जाएगा, ऐसी चेतावनी दी। सॅल्व्हिनी ने दी चेतावनी के बाद अंतर्गत रक्षा विभाग की तरफ से आदेश जारी किया गया है और उसमें रिआस के २०० शरणार्थियों को शहर से बाहर निकला जाएगा, ऐसा कहा गया है।